मैं अटल जी को कभी नहीं भूल पाऊंगा, हम 65 साल से अभिन्न मित्र थे: आडवाणी

नई दिल्‍ली। अटल जी के निधन की खबर ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। इस दुखभरी खबर से सबसे बड़ा झटका भाजपा के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी को लगा है। अटल जी के निधन के बाद आडवाणी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि मैं अटल जी को कभी नहीं भूल पाऊंगा। हम 65 साल से अभिन्न मित्र थे। उनका दुनिया से चले जाना मेरे लिए व्यक्तिगत नुकसान है।
आडवाणी ने कहा कि इस घड़ी में दुख व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। आरएसएस प्रचारक के रूप में बिताए समय और भारत में आपात काल के दौरान बिताए समय को याद करते हुए आडवाणी ने कहा कि हमने एक साथ काफी कुछ देखा है। अटल जी के साथ बिताया समय हमेशा याद रहेगा।
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लम्बी बीमारी के बाद आज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। एम्स के मीडिया एवं प्रोटोकाल डिविजन की अध्यक्ष प्रो. आरती विज की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि गहरे शोक के साथ हम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की सूचना दे रहे हैं।
एम्स के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री का निधन आज शाम 5 बजकर 5 मिनट पर हुआ। विज्ञप्ति में कहा गया है कि वाजपेयी को 11 जून 2018 को एम्स में भर्ती कराया गया था और डाक्टरों की निगरानी में पिछले नौ सप्ताह से उनकी हालत स्थिर बनी हुई थी। एम्स के अनुसार, दुर्भाग्यवश, उनकी स्थिति पिछले 36 घंटों में बिगड़ी और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया । हमारे सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के बावजूद आज हमने उन्हें खो दिया। एम्स ने कहा कि हम पूरे देश को हुई इस अपूरणीय क्षति एवं दुख में शरीक हैं।
पीएम मोदी ने किया ट्वीट, लिखा-‘मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति’
देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी नहीं रहे। 11 जून से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती अटल बिहारी वाजपेयी का 93 साल की उम्र में निधन हो गया। वाजपेयी के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हर स्नेही को दुःख सहन करने की शक्ति दे।
आधुनिक भारत के सबसे कद्दावर नेता थे अटल बिहारी वाजपेयी
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी महान प्रधानमंत्री थे और आधुनिक भारत के सबसे कद्दावर नेताओं में शामिल थे।
उपराष्ट्रपति ने जताया शोक
उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुये उनके निधन को देश के लिये अपूर्णीय क्षति बताया है। नायडू ने अपने शोक संदेश में कहा ”यह समाचार बेहद दुखद है कि अटल जी नहीं रहे। मैं आज सुबह ही उनकी सेहत की जानकारी लेने के लिये एम्स गया था। मैं सोच भी नहीं सकता हूं कि यह दुखद समाचार इतनी जल्दी मिलेगा।
नायडू ने वाजपेयी को आजाद भारत का सबसे बड़ा नेता बताते हुये कहा कि देश में शासन व्यवस्था को बेहतर बनाने और लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करने में उनका योगदान अविस्मरणीय है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि 23 दलों की साझा सरकार का सफल संचालन करना, अटल जी की सभी को साथ लेकर चलने की अद्भुद नेतृत्व क्षमता का नायाब उदाहरण है। नायडू ने कहा कि बहुमुखी व्यक्तित्व, वाणी और कर्तव्यपरायणता के धनी, भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी हमेशा याद किये जायेंगे।
देश ने अपना एक महान सपूत खो दिया
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर दुख प्रकट करते हुए आज कहा कि देश ने अपना एक महान सपूत खो दिया है। गांधी ने ट्वीट कर कहा कि आज भारत ने अपना एक महान सपूत खो दिया। वाजपेयी जी को करोड़ों लोग स्नेह और सम्मान देते थे। उनके परिवार एवं चाहने वालों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। हम उनकी कमी महसूस करेंगे।
कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने कहा, ”पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के निधन से बहुत दुखी हूं। भारत रत्न अटल जी को हमेशा एक महान राजनेता, शानदार वक्ता, और व्यापक दृष्टिकोण वाले नेता के रूप में याद किया जाएगा। उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। ईश्चर उनको यह क्षति वहन करने की शक्ति प्रदान करे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »