आयुर्वेदिक Medical camp में सैकड़ों मरीज लाभान्वित

मथुरा। संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा 22 जनवरी, मंगलवार को सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक निःशुल्क Medical camp लगाया गया जिसमें सैकड़ों मरीज लाभान्वित हुए। डा. भरतेश सेतिया की देखरेख में लगाए गए Medical camp में मरीजों का परीक्षण कर उन्हें निःशुल्क दवाएं वितरित की गईं। आज लगाए गए चिकित्सा शिविर में बरौली, नरी, सेमरी, छाता, नगला देवी, रणवारी, अलवाई, चौमुंहा आदि के मरीजों की निःशुल्क जांच और उपचार किया गया।

संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल द्वारा मथुरा जनपद के ग्रामीणों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के लिए लगातार निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में आज टीबी और छाती रोग विशेषज्ञ डा. भरतेश सेतिया, गुदा रोग विशेषज्ञ डा. पवन गुप्ता, जनरल फिजीशियन डा. योगेश तिवारी, पंचकर्मा विशेषज्ञ डा. सुशील एम.पी., डा. संतोष कुन्तल आदि ने एक दर्जन से अधिक गांवों के महिला-पुरुष और बच्चों का परीक्षण कर उन्हें निःशुल्क दवाएं वितरित कीं। शिविर में सुबह से ही मरीजों का आना शुरू हो गया था। इस शिविर में लकवा, कमर दर्द, मिर्गी, मधुमेह, स्त्री रोग, श्वेत प्रदर, अस्थमा, पाइल्स, गठिया बाय, दमा, जोड़ों का दर्द, मोटापा, शिशु रोग, एसिडिटी आदि से पीड़ित मरीजों की जांच और उपचार किया गया। शिविर में मरीजों को निःशुल्क चिकित्सा परामर्श के साथ उन्हें दवाएं भी मुफ्त में प्रदान की गईं।

इस चिकित्सा शिविर का लाभ लेने वाले ग्रामीणों ने संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल के इस सेवाभावी कार्य की मुक्तकंठ से सराहना करते हुए कहा कि इस तरह के शिविर लगने से समय और पैसे की बचत होती है। ग्रामीणों का कहना है कि ऐसे शिविर लगते रहने चाहिए। संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल द्वारा लगाए गए शिविर में डाक्टरों के साथ ही नितिन प्रताप सिंह, देवेश यादव, नरसिंह पाल, प्रभाती वर्मा, मुकेश जोयाल, रविकांत गौतम, वैभव मिश्रा और छात्र-छात्राओं ने सेवाभाव का परिचय दिया।

कुलाधिपति सचिन गुप्ता का कहना है कि संस्कृति विश्वविद्यालय मथुरा जनपद में भारतीय चिकित्सा पद्धति से लोगों को उपचार देने को प्रतिबद्ध है। आज के दौर में भारतीय चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा मिलना जरूरी है क्योंकि इससे मरीज को किसी प्रकार की कोई अन्य परेशानी नहीं होती। संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल की स्थापना का मकसद ही भारतीय चिकित्सा पद्धति को प्रोत्साहित करना है। हम चाहते हैं कि मथुरा जिले के ग्रामीणों को समय-समय पर निःशुल्क चिकित्सा का लाभ मिलता रहे ताकि उनका समय और पैसा दोनों बचे। संस्कृति विश्वविद्यालय के उप-कुलाधिपति राजेश गुप्ता का कहना है कि संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल, संस्कृति यूनानी मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल द्वारा हर महीने मथुरा के ग्रामीण क्षेत्रों में निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाए जाएंगे ताकि मरीजों को चिकित्सा के अभाव में इधर-उधर न भटकना पड़े।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *