Monsoon के मौसम में कैसे करे शरीर की देखभाल

बारिश के दौरान हम सभी चाहते हैं कि गर्मा-गरम कॉफी का कप हमारे हाथों में बना रहे क्योंकि मौसम में थोड़ी ठंडक घुल जाती है। प्रकृति का रंग खूबसूरत और हरा-भरा नजर आता है। यूं लगता है कि जैसे इसे एक नया जीवन मिल गया हो। पर क्या यही बात आप अपनी त्वचा के लिए कह सकती हैं?
क्‍योंकि जैसे ही बारिश का मौसम आता है त्वचा से जुड़ी समस्याएं बढ़ जाती हैं। मसलन खुले रोमछिद्र यानी ओपन पोर्स, बेजान त्वचा, ऑइली स्किन और मुहांसे भी। इसके अलावा इस मौसम में बालों का हल्का गीला बना रहना एक और परेशानी का कारण बन जाता है। इसकी वजह से बालों का झड़ना भी बढ़ जाता है। ऐसे में जरूरी है कि Monsoon के दौरान त्वचा और बालों से जुड़ी इन समस्याओं पर काबू पाने के लिए पहले से ही तैयारी कर ली जाए ताकि त्वचा और बालों को कोई नुकसान न पहुंचे।
यदि आप बारिश में भीग गई हैं तो अपने चेहरे और पैरों को अच्छी तरह धोएं और पोंछ कर साफ और सूखा रखने की कोशिश करें। चेहरा धोने के लिए ऐसा फेस वॉश चुनें, जिसके इन्ग्रीडिएंट्स सौम्य हों और जो त्वचा को साफ तो करें लेकिन चेहरे पर मौजूद प्राकृतिक तेल को न हटाएं क्योंकि यही तेल तो चेहरे पर चमक लाता है।
एक्सफॉलिएट जरूरी
Monsoon के दौरान चेहरे को क्लेंज करना बहुत जरूरी इसलिए होता है क्योंकि इस मौसम में बैक्टीरिया के पनपने और रोमछिद्रों के बंद हो जाने की समस्या बढ़ जाती है। सप्ताह में एक बार चेहरे को सौम्यता से एक्सफॉलिएट करने से त्वचा पर मौजूद मृत कोशिकाएं यानी डेड सेल्स हट जाती हैं और साथ ही नई कोशिकाओं का विकास बढ़ने लगता है। साथ ही इससे चेहरे की रंगत चमक उठती है।
हॉट ऑयल मसाज
हल्के गीले बाल बड़े नाज़ुक होते हैं। ये आसानी से क्षतिग्रस्त हो सकते हैं और खिंच कर टूट सकते हैं। ऐसे में Monsoon के दौरान अपने बालों को तौलिए से थपथपाते हुए सुखाएं और गीले बालों को न तो खींचे और न ही इन पर कंघी करें। इस मौसम में बालों को भीतर से पोषण देना और हेयर फॉलिकल्स को मजबूत बनाना बेहद जरूरी होता है। इसके लिए स्कैल्प और बालों पर गुनगुने तेल की मालिश यानी हॉट ऑयल मसाज बड़े काम की साबित होगी।
पैरों की देखभाल के लिए
बारिश के दौरान पानी और कीचड़ से भरी सड़कों पर चलते समय पैरों को ही इसका सबसे ज़्यादा खामियाजा भुगतना पड़ता है। साथ ही पैर लंबे समय तक गीले और नम भी बने रहते हैं। आप चाहे खुले हुए शूज पहनें या बंद पैर लंबे समय तक गीले बने रहते हैं। इससे पैरों में फंगल और बैक्टीरियल इन्‍फेकशन होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि पैर जब भी पानी में भीगें, घर आने के बाद आप उन्हें अच्छी तरह साफ कर के सुखा लें। रोजाना पैरों पर मॉइस्चराइजर लगाएं। ख्‍याल रखें कि मॉइस्चराइजर तब भी लगाएं, जबकि पैरों में दरारें न आई हों और वह रूखे न महसूस हो रहे हों।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »