ह्यूस्‍टन के पुलिस प्रमुख की ट्रंप को सलाह, अपना मुंह बंद रखें

ह्यूस्‍टन। अमेरिका के मिनियापोलिस में निहत्थे अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की निर्मम हत्‍या के बाद देशभर में हिंसा का दौर जारी है। हालात इतने खराब हो गए हैं कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को सेना तैनात करनी पड़ी है। ट्रंप ने कहा कि हिंसा से निपटने में राज्‍यों के गवर्नर अपनी कमजोरी दिखा रहे हैं। ट्रंप के इस बयान के बाद ह्यूस्‍टन के पुलिस प्रमुख आर्ट एक्‍वेडो ने उन्‍हें अपना मुंह बंद रखने की सलाह दी है।
ह्यूस्‍टर के पुलिस प्रमुख ने कहा, ‘मैं देश के पुलिस चीफ की ओर से अमेरिका के राष्‍ट्रपति को बस इतना कहना चाहूंगा कि अगर आपके आपके पास कुछ रचनात्‍मक नहीं है, कहने के लिए तो कृपया अपना मुंह बंद रखिए।’
इससे पहले एक जून को राज्‍यों गवर्नर के साथ कॉन्‍फ्रेंस कॉल में डोनाल्‍ड ट्रंप ने उन्‍हें सलाह दी थी कि वे प्रदर्शनकारियों पर अपना प्रभुत्‍व स्‍थापित करें। उन्‍होंने कहा, ‘अगर आप अपना प्रभुत्‍व स्‍थापित नहीं करेंगे तो आप अपना समय बर्बाद कर रहे हैं।’
‘हिंसा, लूट और अव्यवस्था को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा’
इस बीच हत्‍या पर राष्ट्रव्यापी प्रदर्शनों के बीच ट्रंप के कार्यालय वाइट हाउस ने कहा है कि हिंसा, लूट, अराजकता और अव्यवस्था को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। व्‍हाइट हाउस की प्रेस सचिव कैली मैकनैनी ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा, ‘राष्ट्रपति ने साफ कर दिया है कि हम अमेरिका की सड़कों पर जो देख रहे हैं, वह अस्वीकार्य है। हिंसा, लूट, अराजकता, अव्यवस्था को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’
उन्होंने अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की हिरासत में मौत के बाद से हो रहे प्रदर्शनों में दंगों और लूट का संदर्भ देते हुए कहा, ‘साधारण और साफ बात है। ये आपराधिक कृत्य प्रदर्शन नहीं हैं, ये अभिव्यक्ति नहीं हैं, ये अपराध हैं जो बेकसूर अमेरिकी नागरिकों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।’ फ्लॉयड की मौत के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों की आग अमेरिका की 140 शहरों तक पहुंच गई है, जिसे देश में पिछले कई दशकों की सबसे खराब नागरिक अशांति माना जा रहा है।
24 राज्यों में नैशनल गार्ड के 17,000 सैनिकों की तैनाती
उत्तर में न्यूयॉर्क से लेकर दक्षिण में ऑस्टिन तक और पूर्व में वॉश‍िंगटन डीसी से लेकर पश्चिम में लॉस एंजिलिस तक कई प्रदर्शनों ने हिंसक रूप ले लिया है। प्रेस सचिव ने बताया कि 24 राज्यों में नैशनल गार्ड के करीब 17,000 सैनिकों की तैनाती की गई है। मैकनैनी ने कहा, ‘पहला संशोधन शांतिपूर्ण तरीके से एकत्र होने के अधिकार की गारंटी देता है, हमने वाशिंगटन और देश के अन्य हिस्सों में पिछली रात जो देखा वह यह नहीं था इसलिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इन हरकतों को गलत बता रहे हैं ताकि अमेरिकी नागरिकों, अमेरिकी कारोबारों को बचाया जा सके।’
उन्होंने कहा, ‘कुल 3,50,000 नेशनल गार्ड उपलब्ध हैं और अराजकता के लिए और कदम उठाए जाएंगे। देश भर के गवर्नरों को कार्यवाही करनी होगी, नेशनल गार्ड की तैनाती करनी होगी क्योंकि यह अमेरिकी समुदायों को बचाने के लिए उचित है।’
सवालों पर प्रतिक्रिया देते हुए, मैकनैनी ने कहा कि ओवल ऑफिस का संबोधन या राष्ट्र के नाम संबोधन इस अराजकता का समाधान नहीं है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *