इंडोनेशिया की पनडुब्बी के सही-सलामत मिलने की उम्मीद टूटी

जकार्ता। अचानक लापता हुई इंडोनेशिया की पनडुब्बी के सही-सलामत मिलने की उम्मीद लगभग टूट चुकी हैं। देश की नौसेना ने शनिवार को ऐलान कर दिया है कि बाली के तट से लापता हुई पनडुब्बी डूब गई है। इसके साथ ही अब इस पर सवार 53 सदस्यों की जान बचने की उम्मीद भी नहीं रही है। नौसेना अध्यक्ष ने कहा कि एक सर्च पार्टी को KRI Nanggala 402 के कुछ हिस्से मिले हैं जिनमें इसके अंदर मौजूद सामान भी शामिल है। अभी तक आशंका जताई जा रही थी कि पनडुब्बी में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं बची है और इसका बचना मुश्किल है।
तीन दिन की ऑक्सिजन थी
इस पनडुब्बी की खोज में जहाजों से लेकर विमान और सैकड़ों सैन्यकर्मी लगे थे। हालांकि, इसमें ऊर्जा जाने के बाद सिर्फ तीन दिन की ऑक्सीजन बची थी जिसका समय शनिवार को खत्म हो गया। नौसेना प्रमुख युदो मार्गोनो ने बताया कि अब इस पनडुब्बी को डूबा हुआ माना जा रहा है। उन्होंने साफ किया कि जो सामान मिला है, वह किसी और जहाज का नहीं है।
नौसेना अधिकारियों ने टॉर्पीडो का टुकड़ा और सबमरीन के पेरिस्कोप को लूब्रिकेट करने के लिए इस्तेमाल होने वाली ग्रीज की बोतल दिखाई। इसके अलावा वह चटाई भी मिली है जिस पर बैठकर मुस्लिम नमाज करते हैं।
ज्यादा दबाव नहीं झेल सकी
यह पनडुब्बी बुधवार को एक अभ्यास के दौरान गायब हो गई थी। जिस जगह पर इसके डूबने की आशंका जताई गई थी, वहां तेल फैला हुआ था। इससे अंदाजा लगाया गया कि ईंधन के टैंक को नुकसान के कारण इसके साथ घातक हादसा हुआ है। यह 700 मीटर की गहराई तक का दबाव झेल सकती थी और उसके नीचे जाने पर इसके फटने का खतरा था। इसकी ओर से डाइव की इजाजत मांगी गई थी लेकिन उसके बाद इससे संपर्क टूट गया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *