कर्नाटक के गृहमंत्री ने कहा, बेंगलुरु और मैसूर बन रहे हैं आतंकियों के गढ़

बेंगलुरु। कर्नाटक सरकार में गृहमंत्री बासवराज बोम्मई ने शुक्रवार को कहा कि एनआईए के मुताबिक बेंगलुरु और मैसूर जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (म्यांमार से भागे रोहिंग्या मुसलमानों का आतंकवादी संगठन) का गढ़ बनता जा रहा है। हमारे पुलिसकर्मी ऐहतियातन सभी कदम उठा रहे हैं। तटीय कर्नाटक के साथ-साथ कर्नाटक के अंदरूनी क्षेत्रों में भी उन्होंने अभियान तेज कर दिए हैं।
बता दें कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के प्रमुख वाईसी मोदी ने सोमवार को कहा था कि जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत में अपने पांव पसारने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि 125 संदिग्धों की सूची विभिन्न राज्यों के साथ साझा की गई है। आतंकवाद विरोधी दस्तों (एटीएस) के प्रमुखों की एक बैठक को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि जेएमबी ने झारखंड, बिहार, महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल में बांग्लादेशी अप्रवासियों की आड़ में अपनी गतिविधियां शुरू कर दी हैं।
‘राज्यों के साथ साझा की सूची’
वाईसी मोदी ने कहा, ‘एनआईए ने जेएमबी नेतृत्व से करीबी संबंध रखने वाले 125 संदिग्धों की सूची संबंधित राज्यों के साथ साझा की है।’ एनआईए के महानिरीक्षक आलोक मित्तल ने कहा कि 2014 से 2018 के बीच जेएमबी ने बेंगलुरु में 20 से 22 ठिकाने स्थापित किए और दक्षिण भारत में अपने पैर पसारने की कोशिश की। उन्होंने कहा, ‘जेएमबी ने कर्नाटक सीमा के पास कृष्णागिरी हिल्स में रॉकेट लॉन्चर्स का परीक्षण भी किया।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »