पाकिस्‍तान की गोलीबारी में 8 महीने के मासूम की मौत पर गृहमंत्री भड़के

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सीमा पर कुछ दिन पहले बीएसएफ के पलटवार से गिड़गिड़ाने वाली पाकिस्तानी सेना ने अब फिर से अपना असली रंग दिखाना शुरू कर दिया है। अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर पिछले कुछ दिनों से पाकिस्‍तान द्वारा लगातार की जा रही गोलीबारी के कारण सीमावर्ती गांव के लोग पलायन पर मजबूर हैं। सोमवार को पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में एक 8 साल के मामूस की मौत हो गई है। बता दें कि सीमा पार से अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आते हुए पाकिस्तान रविवार देर रात से फायरिंग कर रहा है।
सोमवार सुबह पाकिस्तान की ओर से हुई भारी गोलाबारी में एक स्पेशल पुलिस अधिकारी (एसपीओ) व एक महिला सहित पांच नागरिकों के घायल होने की खबर थी। इसके बाद मंगलवार सुबह 8 महीने के मासूम के भी गोलीबारी का शिकार होने से स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है। पाकिस्तान की ओर से की जा रही गोलाबारी में अरनिया के तमाम रिहाइशी इलाकों को निशाना बनाया जा रहा है।
लगातार फायरिंग से स्थानीय लोग बेहद डरे हुए हैं। सचेतगढ़ के एक नागरिक ने बताया, ‘गोलाबारी लगातार जारी है, हम बेहद डरे हुए हैं। रात में सो नहीं पाते। अपने मवेशियों को भी चराने के लिए बाहर नहीं ले जा सकते। यह संकट की स्थिति है। सरकार से अपील है कि इसका उपाय ढूंढा जाए या फिर कुछ व्यवस्था की जाए।’
सीएम मुफ्ती ने की थी ग्रामीणों से मुलाकात
नियंत्रण रेखा पर हुई सीजफायर उल्लंघन की घटना के बीच राज्य की सीएम महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को एलओसी से सटे इलाकों का दौरा किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार महबूबा मुफ्ती ने अरनिया सेक्टर में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों दौरा किया है, जहां उन्होंने इलाकों के ग्रामीणों से मुलाकात की। अरनिया में अपने इस दौरे पर सीएम महबूबा ने अधिकारियों को गोलाबारी में घायल लोगों के इलाज के लिए हरसंभव इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।
बीएसएफ ने उड़ाया था पाकिस्तानी बंकर
इससे पहले बीएसएफ ने रविवार सुबह 19 सेकंड का एक थर्मल इमैजिनरी फुटेज भी जारी किया था, जिसमें सीमा पार स्थित एक पाकिस्तानी बंकर को उड़ाया गया था। फुटेज में बिना उकसावे के सीमा के दूसरी ओर से गोलीबारी किए जाने के बाद भारत की जवाबी कार्यवाही में एक पाकिस्तानी चौकी को हुआ नुकसान साफ नजर आ रहा था। बीएसएफ की जवाबी कार्यवाही में पाकिस्तान का एक जवान मारा गया था।
राजनाथ ने पाकिस्तान को दी चेतावनी
जम्मू-कश्मीर में सीमा पार से पाकिस्तानी सेना की नापाक फायरिंग पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। गृह मंत्री ने बीएसएफ जवानों को गोलीबारी का उचित जवाब देने को कहा है। बता दें कि पिछले कुछ दिन से सीमा पर पाकिस्तानी सेना लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रही है। मंगलवार को इस गोलीबारी में एक 8 माह के बच्चे की मौत हो गई थी वहीं, सोमवार को घायल एक महिला ने भी आज दम तोड़ दिया है। पाकिस्तान की इस नापाक हरकत के बाद भारत ने यह कड़ी प्रतिक्रिया दी है।
बीएसएफ के एक कार्यक्रम में राजनाथ ने कहा, हमारा पड़ोसी शांति नहीं चाहता है। हम पहली गोली नहीं चलाएंगे लेकिन गोली चलने पर उचित जवाब दिया जाएगा।’
उन्होंने कहा, ‘गोली चलने पर हमारे जवानों को पता है कि उन्हें क्या करना है। जवाबी कार्यवाही पर जवानों से कोई कुछ नहीं पूछेगा।’
उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान अपने हथकंडों से बाज नहीं आता है। पहली गोली पड़ोसी पर नहीं चलनी चाहिए लेकिन अगर उधर से गोली चल जाती है तो क्या करना है, उसका फैसला आपको (बीएसएफ) करेगी।’
गृह मंत्री ने कहा कि जो कोई भी भारत की तरफ नापाक निगाह से देखेगा, उसे करारा जवाब मिलेगा। उन्होंने कहा, ‘जो भी भारत की तरफ आंख उठाकर देखे उसके खिलाफ उचित कार्यवाही हो। सीमा पर जब गोली चलती है तो जवानों को पता है कि उन्हें क्या करना है।’
गौरतलब है कि को बीएसएफ ने पाकिस्तानी बंकरों को नष्ट करने का वीडियो जारी किया था। बीएसएफ की जवाबी कार्यवाही से घबराई पाकिस्तानी सेना ने तुरंत गोलीबारी रोकने का आग्रह किया था पर पिछले कुछ दिनों से सीमा पर पाकिस्तान लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहा है।
सोमवार सुबह पाकिस्तान की ओर से हुई भारी गोलाबारी में एक स्पेशल पुलिस अधिकारी (एसपीओ) व एक महिला सहित पांच नागरिकों के घायल होने की खबर थी। आज घायल महिला ने दम तोड़ दिया है। इस तरह पाकिस्तान की गोलीबारी में मरने वाली संख्या बढ़कर दो हो गई है। पाकिस्तान की ओर से की जा रही गोलाबारी में अरनिया के तमाम रिहाइशी इलाकों को निशाना बनाया जा रहा है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »