भारत को अपना दूसरा घर मानती हैं हॉलिवुड एक्ट्रेस ‘राधा रानी’

हॉलिवुड की काफी एक्ट्रेसस इंडिया में भी काफी पसंद की जाती हैं। एंजिलिना जोली, केट विंसलेट, जूलिया रॉबर्ट्स, कैमरन डियाज, पेनिलोपे क्रूज, कीरा नाइटली, स्कारलेट जॉनसन जैसी ऐक्ट्रेसस की फेहरिस्त लंबी है जो इंडिया में भी काफी पॉपुलर हैं और इनकी फिल्में ऑडियंस के बीच काफी पसंद की जाती हैं।
लेकिन क्या आपको पता है कि हॉलिवुड फिल्मों में काम करने वाली एक एक्ट्रेस ऐसी भी हैं जिनका नाम राधा रानी है।
कौन हैं राधा रानी?
जी हां, आपने एकदम ठीक सुना है। हॉलिवुड फिल्मों में काम कर चुकीं इन एक्ट्रेस का नाम राधा रानी अंबर इंडिगो आनंदा मिशेल है। अब आप सोच रहे होंगे कि जरूर इन मोहरतमा के माता-पिता या परिवार में से कोई भारत से संबंधित होगा लेकिन आप यहां भी गलत साबित होंगे। राधा रानी का जन्म ऑस्ट्रेलिया में हुआ था और इनके पेरेंट्स भी वहीं के नागरिक हैं। राधा रानी ने हाई आर्ट, पिच ब्लैक, फोन बूथ, मैन ऑन फायर, फाइंडिंग नेवरलैंड, मेलिंडा एंड मेलिंडा, सायलेंट हिल और द क्रेजीज जैसी फेमस हॉलिवुड फिल्मों में काम किया है। राधा रानी को पहचान ऑस्कर अवॉर्ड जीत चुकी फिल्म ‘फाइंडिंग नेवरलैंड’ से मिली जिसमें केट विंसलेट और जॉनी डेप मुख्य भूमिकाओं में थे।
कैसे मिल गया राधा रानी का नाम
साल 2010 में अमेरिका में हुए इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ लॉस एंजिलिस में राधा रानी का फिल्म ‘द वेटिंग सिटी’ का प्रदर्शन किया गया था। तब उन्होंने बताया था कि वह केवल अपने नाम से ही इंडिया से नहीं जुड़ी हुई हैं, बल्कि भारत को वह अपना दूसरा घर मानती हैं। जब उनसे राधा रानी से उनके लंबे नाम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘जब मैं बच्ची थी तभी से मैं अपने नाम के बारे में लोगों को जवाब दे रही हूं। मुझे लगता है कि पिछले जन्म में इंडिया से मेरा कोई खास नाता रहा होगा। जब मैं पैदा हुई थी तो उससे काफी पहले मेरी मां इंडिया गई थीं। वहां पर वह इंडियन फिलॉसफी, हिंदू और बौद्ध धर्म से काफी प्रभावित हुईं। तो मेरा जो नाम है, वह मेरी मां की भारत यात्रा का नतीजा है।’
भारत भी आ चुकी हैं राधा रानी
जब राधा रानी से पूछा गया कि वह भारत कब आई थीं तो इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘मैं शायद 6 साल की थी जब हम दिल्ली में अपने फैमिली फ्रेंड्स से मिलने गए थे। मुझे वहां के बंदर, हाथी, साड़ियां, सिल्क और मसालों की खुशबू अभी भी याद है। और यह भी याद है कि मेरी मां को डायरिया हो गया था।’ राधा रानी उसके बाद भी इंडिया आईं और दिल्ली के अलावा कुंभ मेले में भी गई थीं। उन्होंने कहा, ‘भारत की राजधानी एक महान शहर है। मुझे उसका इतिहास तथा पब्लिक ट्रांसपोर्ट पसंद है। मैं दिल्ली के लाल किले को देखकर तो अभिभूत हो गई।’ जब राधा रानी 19 साल की थीं तो उन्होंने कोलकाता से गोवा तक रोड ट्रिप के जरिए भारत को नजदीक से समझा। वह भारत के महान फिल्मकार सत्यजीत रे से भी काफी प्रभावित हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *