चीन ने 135 वर्ष पुराने मंदिर में किए ऐतिहासिक बदलाव

शंघाई। चीन के शहर शंघाई में स्थित 135 वर्षीय एक मंदिर के मुख्य हॉल में पर्यटकों की सुविधा के लिए ऐतिहासिक बदलाव किए गए हैं। बताया जाता है कि आगंतुकों की भीड़ को देखते हुए इस मंदिर को सफलतापूर्वक 30 मीटर उत्तर की तरफ खिसका दिया गया है और अपने स्थान से एक मीटर उपर उठा दिया गया है। जानकारी के मुताबिक मंदिर का मुख्य कक्ष 30.66 मीटर उत्तर और 1.05 मीटर ऊंचा कर दिया गया है। हॉल में स्थापित बौद्ध मूर्तियां और अवशेष भी इसके साथ अपनी जगह से स्थानांतरित किए गए।
बता दें कि शंघाई के जेड बुद्ध मंदिर का महावीर हॉल 1882 में बनाया गया था। इस मंदिर में प्रति वर्ष 2 लाख से अधिक पर्टयक आते हैं और रोजाना आने वाले आगंतुकों की संख्या 100,000 से भी अधिक होती है।
बताया जाता है कि श्रमिकों ने हॉल के नींव को सीमेंट से मजबूत बनाया क्योंकि पुराने भवन की नींव बहुत कमजोर थी थी। इसके अलावा मूर्तियों और अन्य अवशेषों को क्षतिग्रस्त होने से बचाने के लिए उन्हें फ्रेम किए गए।
शंघाई वास्तुशिल्प डिजाइन और अनुसंधान संस्थान के मुख्य अभियंता ली यिंग के अनुसार इस पूरी प्रक्रिया को एक सटीक विश्लेषण के बाद किया गया। जेड बुद्ध मंदिर के प्रमुख और चीनी बौद्ध संघ के प्रमुख ज्यू ज़िंग ने कहा कि हॉल को एक जगह से दूसरी जगह खिसकाने के पीछे कारण थोड़ी और जगह बनानी थी ताकि यहां भीड़ कम हो सके और भगदड़ का खतरा कम हो सके।
-एजेंसी