मशहूर शायर मुनव्वर राना पर उनके भाई इस्‍माइल ने लगाए गंभीर आरोप

लखनऊ। मशहूर शायर मुनव्वर राना और उनके भाई इस्माइल राना के बीच संपत्ति विवाद का मामला तूल पकड़ने लगा है। शुक्रवार को इस्माइल ने एक टीवी चैनल के इंटरव्यू में मुनव्वर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मुनव्वर राना के बेटे और बेटियों ने उन्हें एक तरह से कांशीराम बना दिया है। राजनीति के चलते वे उन्हें गुमराह कर रहे हैं।
इस्माइल ने आरोप लगाया कि मुनव्वर के बेटे तबरेज चचेरे भाइयों को मुकद्दमे में फंसाकर जमीन हथियाने की कोशिश कर रहे हैं।
इससे पहले तबरेज ने अपने चाचा इस्माइल और उनके बेटों पर उन्हें जान से मारने की कोशिश करने का आरोप लगाया था। हालांकि, रायबरेली पुलिस ने इसका खुलासा करते हुए बताया कि तबरेज ने खुद शूटरों के साथ मीटिंग कर यह प्लान बनाया था ताकि उनके चाचा और चचेरे भाइयों को फंसाया जा सके। शुक्रवार को इस मामले पर एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए इस्माइल राना ने कहा, ‘मुनव्वर के बेटे तबरेज चचेरे भाइयों को 307 में फंसाकर जमीन हथियाने की कोशिश कर रहे हैं।’
‘मुनव्वर को बेटे-बेटियों ने बनाया कांशीराम’
इस्माइल ने कहा कि मुनव्वर राना के बेटे और बेटियों ने एक तरह से कांशीराम बना दिया है। कुछ दिनों पहले मेरे भाई ने कहा था कि CM योगी से मेरी जान को खतरा है, मैं दावे से कह सकता हूं कि यह मुनव्वर राना का बयान नहीं है। उनके बेटे और बेटी राजनीति के चलते उन्हें गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि मुनव्वर राना अपने होशो-हवास में नहीं हैं। जब-जब वह एम्स में भर्ती हुए हैं तब मैंने हनुमान बनकर उनकी सेवा की है। वह न जाने किस मजबूरी में राम नहीं बन सके।
वहीं मुनव्वर राना ने अपने भाई के सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने इस विवाद में भाई इस्माइल राना को पक्ष मानने से भी इंकार कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि वह (इस्माइल) कलकत्ते का बदमाश है।
मुनव्वर राना ने पुलिस के रवैए पर उठाए सवाल
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरुवार देर रात मशहूर शायर मुनव्वर राना के घर पर हुई लखनऊ पुलिस की छापेमारी के बाद उन्होंने पुलिस के रवैए पर गंभीर सवाल उठाए हैं। राना ने छापेमारी की तुलना यूपी के कानपुर में हुए बिकरु कांड से करते हुए इसे गुंडागर्दी बताया है। इससे पहले मुनव्वर राना की बेटी और कांग्रेस नेता फौजिया राना ने भी सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करते हुए लखनऊ पुलिस पर बिना वारंट छापेमारी करने का आरोप लगाया है।
छापेमारी को लेकर मांगा गया वारंट तो पुलिस ने किया दूर
मुनव्वर राना ने कहा कि छापेमारी करने आए पुलिस से लगातार वारंट या किसी सरकारी कागज की मांग की जा रही थी लेकिन गुंडागर्दी पर उतारू पुलिस वारंट दिखाने की बजाय मुझसे इस मामले से दूर रहने की बात कह रही थी।
उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों से कई बार छापेमारी का कारण, छापेमारी के लिए जारी किया गया वारंट या सरकारी कागज मांगा गया लेकिन उन्होंने कोई कागज न होने की बात कहते हुए कहा कि आप दूर हटिए, आपसे कोई मतलब नहीं है।
किसी भी हालातों में गई जान तो पुलिस कर्मी होंगे दोषी: मुनव्वर राना
वीडियो में मुनव्वर राना ने कहा कि छापेमारी करने आए पुलिसकर्मियों में से कोई भी मुझे मार सकता था और नहीं भी मारता तो इन हालातों के कारण मैं खुद ही मर जाता। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी स्थिति में मेरी मौत होती है तो उसके दोषी बिना कुछ बताए छापेमारी की कार्यवाही करने आए ये सभी पुलिसकर्मी होंगे।
‘बिकरु कांड की तरह किया हंगामा’
देर रात हुई छापेमारी के बाद शायर मुनव्वर राना ने लखनऊ पुलिस पर गुंडागर्दी करने और पूरे घटनाक्रम को कानपुर के बिकरु कांड का रूप देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि लखनऊ पुलिस में घर में दाखिल होने के बाद सारे रास्ते बंद कर दिए। इस दौरान लखनऊ पुलिस ने मीडिया और वकीलों को भी अंदर नहीं आने दिया जो सरासर गुंडागर्दी है। उन्होंने कहा कि इस पूरे प्रकरण में ‘मुनव्वर राना इज बिकरु कांड’।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *