हिंदुत्व का मतलब किसी का विरोध करना नहीं, RSS को गलत समझा जाता है: मोहन भागवत

नई दिल्‍ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने ‘भविष्य का भारत : RSS दृष्टिकोण’ कार्यक्रम में भाषण देते हुए कई बातें कहीं। दिल्ली के विज्ञान भवन में RSS के इस तीन दिवसीय कार्यक्रम का सोमवार को दूसरा दिन था। इस कार्यक्रम में बॉलीवुड के कई बड़े अभिनेताओं सहित अलग-अलग क्षेत्रों की हस्तियां मौजूद रहीं। इस दौरान RSS प्रमुख ने कहा कि हिंदू समाज को एकजुट करने के लिए आरएसएस का गठन हुआ। आरएसएस के हिंदुत्व का मतलब किसी का विरोध करना नहीं है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता की निष्ठा पर बोलते हुए कहा कि वो बिना प्रचार दिन-रात काम करते हैं।
इस दौरान मोहन भागवत ने हेडगेवार को याद करते हुए कहा कि वे कांग्रेस के सदस्य थे और विदर्भ क्षेत्र के बड़े नेता थे। उन्होंने असहयोग आंदोलन में भी भाग लिया था। मोहन भागवत ने कहा कि संघ के कार्यकर्ता बिना थके समाज के लिए काम करते हैं। इतने सालों के बाद भी आरएसएस को गलत समझा जाता है।
उन्होंने आगे कहा कि भारत हिंदू राष्ट्र था, है और रहेगा, हमें अपने देश के लिए ही जीना चाहिए। हिन्दुत्व हमारे समाज को एकजुट रखता है। संघ प्रमुख ने आगे कहा, ‘संघ को लोग समझ नहीं पाते हैं क्योंकि संघ अनोखा है। हमें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि सत्ता में कौन है, हम बस अपना काम करते हैं।’
‘हम सही तो लोग खुद सहमत होंगे’
उन्होंने कहा कि संघ सबसे बड़ा लोकतांत्रिक संगठन है, जहां लोकतंत्र का पालन किया जाता है। संघ की कार्य पद्धति अलग है। भारत का भविष्य कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा कि हमसे सहमत होने के लिए हमें लोगों के साथ जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए। हमारे सही होने पर लोग हमसे खुद ही सहमत हो जाएंगे।
विविधता को सेलिब्रेट करें
उन्होंने समाज को संदेश देते हुए कहा कि हमें विविधताओं को लेकर भेदभाव नहीं करना चाहिए बल्कि विविधता को सेलिब्रेट करना चाहिए। उन्होंने बताया कि डॉ. हेडगेवार ने कहा था कि आप लोगों के बीच में रहकर भी देश की सेवा कर सकते हो।
‘पब्लिसिटी में संघ का विश्वास नहीं’
भागवत ने कहा कि संघ पब्लिसिटी में विश्वास नहीं रखता है बल्कि उसके काम से उसकी अपने आप चर्चा होती है। उन्होंने कहा कि किसी अन्य संस्था की तुलना संघ से नहीं की जा सकती है क्योंकि संघ अनूठा है।
इसी दौरान भागवत ने ये भी कहा कि कांग्रेस ने आजादी के आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाई और भारत को कई महान लोग दिए। मोहन भागवत ने कहा कि आरएसएस एक ताकत के रूप में उभरा है और यह प्रचार का भूखा नहीं है। दुनिया का कोई भी संगठन इसके मूल्यों की बराबरी नहीं कर सकता।
आज के कार्यक्रम में अभिनेत्री मनीषा कोइराला, ऐक्टर रवि किशन और अन्नू कपूर भी पहुंचे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »