हिंदुस्तान कभी 26/11 को नहीं भूलेगा, हम मौके की तलाश में हैं: प्रधानमंत्री

भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा में एक चुनावी सभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि ‘हिंदुस्तान कभी भी 26/11 को भूलेगा नहीं। हम मौके की तलाश में हैं। मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं।’  मोदी ने 26 नवंबर 2008 के मुंबई हमलों का जिक्र करते हुए कांग्रेस को भी निशाना बनाया।
उल्‍लेखनीय है कि राजस्थान विधानसभा चुनाव में राजनीतिक दलों के एक-दूसरे पर हमले जारी हैं। भीलवाड़ा में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा।
नरेंद्र मोदी ने मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए आतंकी हमले को लेकर कांग्रेस पार्टी पर भी हमला किया। पीएम मोदी ने यह भी कहा कि हिंदुस्तान कभी 26/11 को नहीं भूलेगा, हम मौके की तलाश में हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी पर तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘आज जब 26 नवंबर है, जब दिल्ली में मैडम का राज चलता था, रिमोट कंट्रोल से चलता था। जब महाराष्ट्र में कांग्रेस की सरकार थी….महाराष्ट्र में भी कांग्रेस की सरकार, दिल्ली में भी कांग्रेस की सरकार। यह 26/11 आतंकियों ने हमला करके हमारे देश के नागरिकों को, जवानों को गोलियों से भून दिया था। उस आतंकवाद की भीषण घटना को आज 10 साल हो रहे हैं। मुझे याद है कि जब मुंबई में आतंकवाद की घटना घटी थी उस समय राजस्थान में चुनाव अभियान चल रहा था। उस समय आतंकवाद की घटना की कोई आलोचना भी करता था तो राज दरबारी ऐसे उछल पड़ते थे कि बोलने वाले के मुंह में ताले लगा देते थे। वह कहते थे कि यह तो युद्ध है। पाकिस्तान ने हिंदुस्तान पर युद्ध बोला है।’
‘ट्रक भर-भरके ले जाशें ले जानी पड़ रही थीं’
जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘उस वक्त कांग्रेस वाले कहते थे कि ये लोग राजनीति कर रहे हैं। इस समय दिल्ली सरकार के हाथ मजबूत करने चाहिए। उस समय यह (कांग्रेस) बड़े-बड़े उपदेश दे रहे थे। राज दरबारी कांग्रेस की लिखी हुई कथा को पढ़ते रहते थे। मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि 26 नवंबर को इतनी बड़ी घटना घटी, कांग्रेस उस समय उसमें चुनाव जीतने के खेल क्‍यों खेल रही थी। वहीं कांग्रेस उस समय देशभक्ति के पाठ पढ़ाती थी। जब मेरे देश की सेना ने पाकिस्तान को उसके घर में जाकर सर्जिकल स्ट्राइक किया, आतंकवादियों का हिसाब चुकता किया। एक अखबार ने लिखा था कि ट्रकें भर-भरके लाशें ले जानी पड़ रही हैं। दुश्मन को उसके घर में घुसकर मारा, हर हिंदुस्तानी को गर्व हुआ था। ऐसे समय कांग्रेस ने सवाल उठाया कि वीडियो दिखाओ वीडियो, सर्जिकल स्ट्राइक हुआ या नहीं। क्या देश का जांबाज जवान हाथ में कैमरा लेकर जाएगा? यह राग दरबारी कांग्रेसियों से ज्यादा उछलकर गीत गाते थे।’
‘आतंकियों को सामने दिखती है मौत’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आए दिन, कभी बेंगलुरु में, कभी हैदराबाद में कभी दिल्ली में, कभी जम्मू में आए दिन बम धमाके होते थे लेकिन हमने आतंकवाद के खिलाफ ऐसे लड़ाई लड़ी है कि उनको कश्मीर की धरती के बाहर निकलना महंगा पड़ रहा है। मौत सामने दिखती है।’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत में कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा, ‘यह जो चारों तरफ मैं उत्साह और उमंग देख रहा हूं, जो राजदरबारी है और राग दरबारी गाने गाने की आदत पड़ी हुई है। जो एयर कंडिशन कमरों में बैठकर बीजेपी हार जाए यह गीत गाते रहते हैं, वे लोग जरा यह नजारा देख लें।’
‘हिंदुस्तान नहीं भूला है 26/11, सही मौके का इंतजार’
पीएम मोदी ने जनसभा में यह भी कहा, ‘हिंदुस्तान कभी भी 26/11 को भूलेगा नहीं। हम मौके की तलाश में है। कानून-कानून का काम करके रहेगा। मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं।’ उन्होंने कहा कि एक तरफ आतंकवाद, एक तरफ माओवाद…जब बच्चों की उम्र कलम पकड़ने की हो तो यह माओवादी बंदूक पकड़ा देते हैं। पीएम मोदी ने कहा, ‘पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में घटना घटी, माओवादी ने हमला बोल दिया…भरतपुर का नौजवान शहीद हो गया, जिन माओवादियों ने, नक्सलवादियों ने मेरे भरतपुर के जवान को पीठ पर वार करके मौत के घाट उतार दिया। इन कांग्रेस के नेताओं ने नक्सलवादियों को क्रांतिकारी बता दिया। यह नामदार के खासमखास बोल रहे हैं।’
जनसभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा, ‘लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं होता। जम्मू-कश्मीर में हम चुनाव करवा रहे हैं, आतंकवादियों ने धमकी दी थी कि यदि कोई वोट करने जाएगा, उंगली पर वोट डालने का काला निशान होगा तो उंगली काट दी जाएगी। भारत के लोकतंत्र के प्रति सामान्य लोगों की निष्ठा देखिए, श्रीनगर में तीन चरण का पंचायत चुनाव हुआ….70 से 75 फीसदी मतदान हुआ है।’
‘नामदार और उनके चेले पूछते हैं मोदी की जाति क्या है?’
पीएम नरेंद्र मोदी ने भीलवाड़ा में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘आतंकवादियों से लोहा लेकर उन्हें खत्म किया जा सकता है। आज 26/11 को एक और दिवस है, वह है संविधान दिवस। बाबा साहब आंबेडकर ने सामूहिक चिंतन में निकला संविधान आज के दिन अर्पित किया गया था। आज सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों के हक का दिवस है। मैं संविधान के निर्माता बाबा साहब आंबेडकर को भीलवाड़ा की धरती से नमन करता हूं। बाबा साहब आंबेडकर ने समाज के भेदभाव खत्म करने का रास्ता दिखाया। यह कांग्रेस पार्टी पूछ रही है, नामदार और उनके चेले-चपाटे पूछ रहे हैं मोदी की जाति क्या है। मुझे बताइए कि हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री अमेरिका जाता है, अमेरिका का राष्ट्रपति मिलता है, भारत की भलाई की बात करता है तो क्या अमेरिका का राष्ट्रपति जाति पूछता है क्या। जब हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री जाता है तो सामने वालों को एक ही जाति दिखती है…सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी की जो जाति होती है।’
‘वह पूछते हैं मोदी की जाति क्या है, मोदी का बाप कौन है’
राजस्थान विधानसभा चुनाव में बीजेपी का प्रचार करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘चुनाव में विकास की चर्चा हो, बिजली मिल रही है या नहीं इसकी चर्चा हो, भ्रष्टाचार हो रहा है या नहीं हो रहा है इसकी चर्चा हो लेकिन मोदी की जाति पर चर्चा हो रही है। दूसरा कहता है कि मोदी का बाप कौन है, यह नामदार को शोभा देता है क्या। वीडियो देखा होगा, जिसमें कहा गया कि मोदी होता कौन है, जो चार पीढ़ी का हिसाब मांग रहा है। मोदी कुछ नहीं है…बस कामदार है कामदार, ऐसा कामदार जिसके पीछे सवा सौ करोड़ भारतीय खड़े हैं। चार पीढ़ी का हिसाब पूछने की हिम्मत नहीं हुई किसी की लेकिन मैंने सवाल पूछा। वे कहते हैं कि नामदार क्यों हिसाब देंगे….। मोदी होता कौन है जवाब मांगे लेकिन मोदी हिसाब मांगता भी है और मोदी हिसाब देता भी है। पल-पल का हिसाब देते हैं, पाई-पाई का हिसाब देते हैं।’
पीएम मोदी ने कहा, ‘2014 में जब मैं चुनाव में खड़ा था तो मैंने वादा किया था कि मैं मेहनत करने में कोई कसर नहीं रखूंगा। क्या आपको मेरी मेहनत नजर आती है। आपने कभी सुना है कि मैंने छुट्टी ली, आपने कभी सुना है कि मैं सात दिन कहीं खो गया। मैं हिसाब दे रहा हूं या नहीं। अब वह मेरे काम का हिसाब मांगते हैं। आपके यहां कांग्रेस का नेता आ जाए तो एक-एक को खड़े रखकर हिसाब लेना। 60-65 साल का समय बीत गया, फिर प्रधानसेवक को आपने सेवा करने का मौका दिया। उनकी चार पीढ़ी और चायवाले के चार साल। उनको पूछना कि आपकी चार पीढ़ी जब देश पर राज करती थी…गली से दिल्ली तक आपका ही कारोबार चलता था….पंचायत से पार्ल्यामेंट इन्हीं का राज चलता था। गांव में शौचालय की सुविधा चालीस फीसदी भी नहीं थी। 2014 में मेरे आने से पहले शौचालय की सुविधा 40 फीसदी भी नहीं थी। चार साल में मोदी ने 40 से 95 फीसदी कर दिया। इसे काम कहते हैं या नहीं। 65 साल में 40 फीसदी और चार साल में 95 प्रतिशत इसे काम कहते हैं।’
‘मोदी सोने का चम्मच लेकर पैदा नहीं हुआ था’
केंद्र की योजनाओं का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आपकी चार पीढ़ी देश में राज करती थी, बैंक थी, बैंक की ब्रांच थी…लोग भी थे लेकिन इस देश से सिर्फ 50 प्रतिशत लोग ऐसे थे, जिनका बैंक में खाता था। आधे लोग ही थे, जिनका बैंक में खाता था। यह मोदी आया चार साल में हर हिंदुस्तानी का बैंक में खाता खोल दिया। हिसाब काम किया हो तो दे सको न लेकिन आप तो जाति कौन सी है, पिता कौन है…यही पूछते रहोगे। गैस का कनेक्शन कांग्रेस के जमाने में 2013 में कांग्रेस ने यह वादा किया था कि 9 सिलिंडर देंगे या 12 सिलिंडर देंगे। पार्ल्यामेंट के एमपी को ये लोग 25 कूपन देते थे, लाइन लगाकर लोग खड़े रहते थे। 65 साल में 55 प्रतिशत गैस कनेक्शन दिए थे लेकिन मोदी ने चार साल में 90 फीसदी घरों में गैस का चूल्हा दे दिया। इनको परेशानी है कि ये माताएं-बहनें मोदी-मोदी क्यों करती हैं, अरे नामदार आप तो सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए हो जब लकड़ी का चूल्हा जलाकर खाना पकाते हैं तो एक मां के शरीर में 400 सिगरेट का धुआं जाता है। यह मोदी है सोने का चम्मच लेकर पैदा नहीं हुआ था, उसने गरीब मां को चूल्हा जलाकर खाना बनाते हुए देखा था।’
‘कमल छाप इंजन देश की सेवा में लगा हुआ है’
प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि मोदी की माता का, पिता का हिसाब मांगने वालों यदि पानी पहुंचा देते तो इतने गुस्से का सामना नहीं करना पड़ता। उन्होंने कहा कि बीते पांच सालों में 36 हजार किलोमीटर नई सड़कें बनी हैं। इनके राग दरबारी यह बात आपके गले से नीचे नहीं उतरने देंगे। पीएम ने कहा, ‘आज दिल्ली का कमलछाप इंजन राजस्थान की सेवा करने में लगा हुआ है। देखिए मैं आपके राजस्थान को कहां से कहां पहुंचा देता हूं।’
बता दें कि राजस्थान की 200 विधानसभा सीटों पर 7 दिसंबर को मतदान होने हैं। 11 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी। इस चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला माना जा रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »