हिंदू सेना ने आह्वान वापस लिया, लेकिन शाहीन बाग में भारी पुलिस बल तैनात

नई दिल्‍ली। राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग रोड को खाली करवाने के लिए होने वाला प्रदर्शन दोपहर को रद्द कर दिया गया। हालांकि, फिर भी ऐतिहात के तौर पर वहां पुलिस बल तैनात किया गया है।
बता दें कि यहां महिलाएं पिछले दो महीनों से सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं। हिंदू सेना नाम के संगठन ने उन्हें हटाने के लिए आज मार्च निकालने की प्लानिंग की थी लेकिन समय पर पुलिस एक्शन में आ गई और फोर्स बढ़ा दी गई।
पुलिस की यह तैनाती तब की गई है जब दक्षिणपंथी समूह हिंदू सेना ने एक मार्च को शाहीन बाग रोड खाली कराने का आह्वान किया। लेकिन बाद में सीएए विरोधी आंदोलन के खिलाफ अपना प्रस्तावित प्रदर्शन वापस ले लिया। पुलिस उपायुक्त (दक्षिणपूर्व) आर पी मीणा ने कहा, ‘समय से किए हस्तक्षेप के कारण प्रस्तावित प्रदर्शन रद्द कर दिया गया, लेकिन हमने यहां एहतियातन भारी पुलिस बल तैनात किया है।’वहीं हिंदू सेना ने कहा कि पुलिस ने शाहीन बाग आंदोलन के खिलाफ रविवार के उनके प्रदर्शन को वापस लेने का उन पर दबाव बनाया।
100 पुलिसवाले तैनात, ड्रोन से निगरानी
अधिकारी ने बताया कि दो महिलाकर्मियों की टुकड़ियों समेत 12 टुकड़ियों को शाहीन बाग में तैनात किया गया है। स्थानीय पुलिस के साथ चार पुलिस जिलों के 100 पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के पास शाहीन बाग संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी के खिलाफ लोगों के एक वर्ग का 15 दिसंबर से प्रदर्शन स्थल बना हुआ है।
हिंदू सेना के विष्णु गुप्ता ने ट्वीट किया था कि दिल्ली पुलिस शाहीन बाग में सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को हटाने में बुरी तरह से नाकामयाब रही है। भारत के संविधान के आर्टिकल 14, 19, 21 के तहत वहां आम लोगों के मूल अधिकारों का हनन हो रहा है। हिंदू सेना 1 मार्च 2020 को सुबह 10 बजे, सभी राष्ट्रवादियों को ब्लॉक की गई सड़क को खाली कराने के लिए आमंत्रित करती है।
पुलिस ने शाहीन बाग में बैरिकेडिंग करते हुए चेतावनी चस्पा कर दी थी कि सीआरपीसी की धारा 144 लागू होने के चलते यहां किसी भी तरह के प्रदर्शन की इजाजत नहीं है। उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। बता दें कि 15 दिसंबर से शाहीन बाग में सड़क बंद है और यहां सीएए के विरोध में प्रदर्शन चल रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *