अयोध्या में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष Kamlesh Tiwari गिरफ्तार

Kamlesh Tiwari ने किया था 6 दिसंबर को कारसेवा करने का एलान

अयोध्या। छह दिसंबर को अयोध्या में कारसेवा का एलान करने वाले हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष Kamlesh Tiwari को गिरफ्तार कर लिया गया है। तिवारी ने आगामी छह दिसंबर को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कारसेवा करने का एलान किया था। उसे गिरफ्तार कर सीजेएम कोर्ट में पेश किया गया।

विवादित ढांचे के विध्वंसकी बरसी 6 दिसंबर को अयोध्या में कार सेवा करने की घोषणा करने वाले हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष Kamlesh Tiwari को अयोध्या पुलिस ने लखनऊ अयोध्या की सीमा पर मवई के पास गिरफ्तार कर लिया है। कमलेश तिवारी अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत राम जन्मभूमि पर राम मंदिर निर्माण के लिए कार सेवा करने के लिए अयोध्या आ रहे थे। लेकिन इससे पहले ही उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

वहीं हिरासत में लेने के बाद तत्काल पुलिस ने उन्हें अयोध्या कचहरी में सीजेएम कोर्ट में पेश कर दिया है । गिरफ्तारी की पूरी कार्रवाई के द्वारा किसी बवाल की आशंका को देखते हुए फैजाबाद अयोध्या कचहरी परिसर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम रहे और कमलेश तिवारी को कोर्ट में पेश किए जाने के द्वारा पूरा कोर्ट परिसर पुलिस छावनी में तब्दील रहा। वही आपको बताते चलें कि अयोध्या में इस वर्ष विवादित ढांचे की बरसी के मौके पर हिंदू संगठनों ने कई कार्यक्रमों की घोषणा की है जिसे लेकर प्रदेश योगी सरकार और जिले की पुलिस बेहद सतर्क है।

एसपी सिटी अनिल सिंह सिसोदिया ने बताया कि कमलेश तिवारी ने दो दिन पूर्व प्रेस कांफ्रेंस कर यह दावा किया था कि वह अयोध्या में विवादित परिसर का गेट तोड़ कर कारसेवा करेंगे जिसके कारण इनकी गिरफ्तारी के आलावा कोई विकल्प नहीं था। फिलहाल कमलेश तिवारी के खिलाफ विधिक कार्यवाही की जा रही है |

मालूम हो कि 25 नवंबर को अयोध्या में विहिप के नेतृत्व में हुई धर्मसभा के बाद से ही राम मंदिर का मुद्दा चर्चा के केंद्र में है। ऐसे में प्रशासन पूरी तरह चौकन्ना है और किसी भी तरह की चूक नहीं करना चाहता।

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मुद्दे की सुनवाई जनवरी में करने की बात कही थी। जिसके बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ व अन्य हिंदूवादी संगठनों ने राममंदिर निर्माण के लिए सरकार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *