आपको बैठे-बैठे फिट बनाए रख सकती है HIIPA एक्सर्साइज

भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद को फिट रखना किसी चुनौती से कम नहीं है। ऐसे में HIIPA एक्सर्साइज आपके काम आ सकती है। यह न सिर्फ बैठे-बैठे आपको फिट बना देगी बल्कि वजन कम करने के लिए बेहतर विकल्प है।
ऑफिस का स्ट्रेस, कॉम्पिटिशन और रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े सवाल, ऐसे में खुद को फिट रखने की जरूरत बेहद बढ़ गई है। ऐसे में आपके खास काम आ सकता है हाल ही में आया फिटनेस का नया ट्रेंड HIIPA। एक बार में 6 सेकंड से 4 मिनट तक की जाने वाली इस एक्सर्साइज़ को बहुत तेजी से किया जाता है।
हिप्पा एक्सर्साइज़ हाई इंटेसिटी वाली है। युवा वर्ग में इसे बेहद पसंद किया जा रहा है क्योंकि इसमें समय कम देना पड़ता है और कैलरीज ज्यादा बर्न होती हैं। जिम ट्रेनर अमित बताते हैं कि इसमें 1 या 2 मिनट के लिए बहुत तेजी से एक्सर्साइज़ की जाती है और फिर आराम किया जाता है। फिर दोबारा इसे तेजी से किया जाता है। यह 6 सेकंड से 4 मिनट की हो सकती है जिसमें 30 सेकंड से 4 मिनट तक का बीच में आराम का समय रहता है। यह ओवरऑल बॉडी को स्ट्रॉग बनाती है और स्टेमिना बढ़ाती है।
क्या है HIIPA वर्कआउट
हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग को एचआईआईटी भी कहते हैं। ये ऐसे वर्कआउट होते हैं, जिन्हें बहुत तेजी से किया जाता है इसलिए बहुत कम समय करने पर भी इन वर्कआउट से शरीर को ढेर सारे लाभ मिलते हैं। खास बात यह है कि अगर आप एचआईआईटी वर्कआउट रोज करते हैं, तो इससे आपको कार्डियो और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग दोनों के फायदे मिलते हैं। इन वर्कआउट को अथलीट वर्कआउट भी कहा जाता है। वजन कम करने के लिए यह वर्कआउट का बहुत ही बेहतर विकल्प हो सकता है।
बॉडी के अनुसार करें सिलेक्ट
इसके लिए बस अगर आप रोज केवल 30 मिनट निकाल लें तो आपकी दिक्कतें दूर हो जाएंगी। इसमें आप एक्सर्साइज़ बॉडी के अनुसार सिलेक्ट कर सकती हैं। हिप्पा में कई तरह के पैकेज होते हैं, जिसमें अपनी बॉडी स्टेमिना के मुताबिक एक्सर्साइज़ दी जाती हैं।
विशेष तैयारी की जरूरत नहीं
HIIPA एक तरह से हिप्पा के सिद्धांत पर काम करता है लेकिन इसको करने के लिए किसी विशेष तैयारी की जरूरत नहीं होती है। उदाहरण के लिए आप सीढ़ियां चढ़ रहे हैं तो तेजी से चढ़ने लगें या फिर कहीं घूम रहे तो तो 300 या 600 फीट तेजी से दोड़ लें। जो लोग अपने आप को फिट रखना चाहते हैं वो लिफ्ट का इंतजार करने की जगह तेजी से कुछ सीढ़िया चढ़ कर रुकें और फिर चढ़ने लगें।
HIIPA के वैसे तो कई लाभ होते हैं लेकिन यह हमेशा बैठे रहने वाले इंसान को धीरे-धीरे फिट बना सकती है। इसके लिए उनको बहुत ज्यादा मेहनत की भी जरूरत नहीं होती है। बस जरूरी है कि आप एक्सर्साइज़ शुरू करने से पहले बॉडी को उसके लिए तैयार करें। इसके लिए थोड़ा वॉर्मअप करना बेहद आवश्यक है। यह वॉर्मअप एक्सर्साइज़ आपकी मांसपेशियों में रक्त संचार बढ़ाकर आपकी बॉडी को हल्का गर्म करती है, जिसके कारण आप न सिर्फ बेहतर तरीके से व्यायाम कर पाते हैं, बल्कि इससे आपके चोटिल होने की संभावना भी काफी हद तक कम हो जाती है।
पावर योगा का भी ट्रेंड
दिन में अगर 20 मिनट योग के लिए निकाल लिए जाएं, तो हेल्दी रहना मुश्किल नहीं है। पिछले पांच सालों में लोगों में योग के लिए रुझान जबर्दस्त तरीके से बढ़ा है। खासतौर पर पावर योगा हर उम्र के बीच खूब पसंद किया जा रहा है। लोग इसे बॉडी शेप, बॉडी स्ट्रेंथ और वेट लॉस के लिए कर रहे हैं। वैसे, योग के जरिए कई बीमारियों पर भी काबू पाया जा सकता है। दरअसल, योग की कुछ आसान क्रियाओं से न केवल दिनभर के लिए ताजगी मिलती है, बल्कि इसे नियमित रूप से करने पर शरीर भी स्वस्थ रहता है। बहुत से लोग यह समझते हैं कि कसरत और योगासन में कोई अंतर नहीं है, जबकि ऐसा नहीं है। कसरत करने पर शरीर को थकान महसूस होती है, जबकि योगासन से थकान नहीं होती।
एरोबिक्स भी डिमांड में
इन दिनों वजन घटाने के लिए एरोबिक्स खासी पॉप्युलर है। इस तकनीक से तुरंत कुछ ही दिनों में वजन घटाया जा सकता है। यह संगीत पर किया जाने वाला व्यायाम है, जिसे लगातार करने से एक्स्ट्रा फैट कम होता जाता है। दरअसल, यह बहुत स्पीड में किया जाता है, इसलिए इसमें कैलरीज भी बाकी एक्सर्साइज़ से ज्यादा बर्न होती हैं। एक मिनट में बॉडी के तमाम पार्ट्स मूव करने से इसमें ज्यादा फायदा होता है।
पहली बार कर रहे हैं एरोबिक्स?
अगर आप पहली बार इसे करने जा रहे हैं, तो सबसे पहले अपनी मांसपेशियों को कुछ दिन हल्की-फुल्की एक्सर्साइज़ करके एरोबिक्स के योग्य बना लें। कई लोग घर में ही इसे करना प्रिफर करते हैं, इसलिए एरोबिक्स का कैसेट चुनते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह आपकी क्षमता के अनुसार हो। अगर शुरुआत कर रहे हैं, तो फॉर द बिगिनर्स कहकर ही कैसेट खरीदें। लेकिन जब भी शुरू करें, डॉक्टर की सलाह जरूर लें। बॉडी की जरूरत के मुताबिक वेट लॉस प्रोग्राम तय करें। इससे कम समय में ही काफी फायदा दिखने लगता है।
जिम ट्रेनर संतोष मानते हैं कि वजन कम करने के लिए जितना जरूरी स्मार्ट तरीके से खाना मायने रखता है, उतना जरूरी स्मार्ट एक्सरसाइज करना भी है। इसलिए जो भी एक्सरसाइज करें, उसे सही तरीके से करना जरूरी है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »