Chautala परिवार में घमासान तेज़, दुष्यंत के बाद दिग्विजय भी इनेलो से निलंबित

चंडीगढ़। Chautala परिवार की कलह और बढ़ गई है , इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश Chautala ने इस मामले में बेहद कड़ा व बड़ा कदम उठाया है। उन्‍हाेंने पौत्र व सांसद दुष्‍यंत चौटाला के बाद उनके भाई दिग्विजय Chautala को भी इनेलो से निलंबित कर दिया है। दुष्‍यंत और दिग्विजय को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है और एक सप्ताह में जवाब देने को कहा गया है। इससे पहले आेमप्रकाश चाैटाला ने युवा इनेलो व इनसो की सभी इकाइयों को भंग कर दिया था। उन्‍होंने इनेलो के संगठन में भी बदलाव किया था। इस कदम से चौटाला परिवार साफ तौर पर दोफाड़ होता दिख रहा है।

बता दें कि इनेलाे सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने बृहस्‍पतिवार को देर रात परिवार में चल रही कलह में बड़ी कार्रवाई की थी। चौटाला ने हिसार सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला को निलंबित कर दिया है। हरियाणा की राजनीति में पिछले 14 साल से सत्‍ता से बाहर चल रही इनेलो में आपरेशन क्लीन शुक्रवार को भी जारी रहा। पैरोल पर जेल से बाहर आए इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने शुक्रवार को दुष्‍यंत के छोटे भाई इनसो अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला को भी अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से निलंबित करने के आदेश जारी दिए।

दुष्यंत और दिग्विजय चौटाला इनेलो महासचिव डाॅ. अजय सिंह चौटाला के बेटे हैैं। अजय चौटाला इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला के बड़े पुत्र हैं और फिलहाल जेल में हैैं। वह दीपावली के आसपास पैरोल पर बाहर आएंगे। ओमप्रकाश चौटाला के कड़े फैसलों पर दुष्यंत चौटाला ने अभी चुप्पी साध रखी है। दूसरी ओर, उनके छोटे भाई दिग्विजय चौटाला ने बृहस्पतिवार को ही कहा था कि उनके पिता अजय चौटाला के अलावा किसी को इनसो को भंग करने का अधिकार नहीं है।

ओमप्रकाश चौटाला ने बृहस्पतिवार को इनेलो यूथ विंग और इनसो की राष्ट्रीय तथा राज्य कार्यकारिणी को भंग कर दिया था। चौटाला के इस फैसले के बाद दिग्विजय की टिप्पणी को अनुशासनहीनता मानते हुए उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई अमल में लाई गई है। शुक्रवार सुबह को चंडीगढ़ में अभय चौटाला ने प्रेस कांफ्रेंस में दुष्यंत चौटाला के निलंबन से अनभिज्ञता जाहिर की, लेकिन थोड़ी देर बाद ही दिग्विजय चौटाला के निलंबन की सूचना सार्वजनिक हो गई।

इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला के यूथ विंग और इनसो को भंग करने के फैसले के बाद दिग्विजय चौटाला ने बृहस्पतिवार को ही तिहाड़ जेल में अपने पिता डा. अजय सिंह चौटाला से मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद ही दिग्विजय चौटाला का बयान आया, जिसमें वह कहते सुनाई दे रहे हैैं कि इनेलो का निर्माण अजय चौटाला ने किया था और उसे भंग करने का अधिकार भी उन्हीं का है।

इनेलो में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बाद सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपने दादा के फैसले का सम्मान किया और उनसे मिलने की कोशिश की, लेकिन सूत्रों का कहना है कि ओमप्रकाश चौटाला ने उनसे मिलने से इन्‍कार कर दिया। चौटाला एक वीडियो में दुष्यंत को गोहाना रैली के मंच पर ही गुस्सा करते नजर आ रहे हैं।

इनेलो से दुष्यंत व दिग्विजय के निलंबन के बाद अजय चौटाला का परिवार हाशिए पर पहुंच गया है। इनेलो में मचा घमासान कब थमता है, इस पर सबकी निगाह टिकी हुई है। इनेलो सूत्रों का कहना है कि चौटाला ने पार्टी में कभी भी अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की है। अनुशासनहीनता बरतने वाले यदि खुद अभय चौटाला होते तो उनके विरुद्ध भी कार्रवाई की जाती। पार्टी कार्यकर्ताओं को अनुशासन बरतने का संदेश देने के लिए ही चौटाला ने कड़े फैसले लिए हैैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »