कानपुर से प्रयागराज पहुंची हाई स्पीड Train-18

Train-18  इंजनरहित है, इसे 18 महीने में तैयार किया गया है

प्रयागराज। भारत में ही निर्मित पहली हाई स्पीड  Train-18 का ट्रायल शुरू हो गया है, ट्रेन-18 शनिवार को 7 घंटे में दिल्ली से प्रयागराज पहुंची । Train-18 नई दिल्ली से कानपुर होते हुए प्रयागराज पहुंची। ट्रेन-18 की खासियत यह है कि इसे 18 महीने में तैयार किया गया है। साथ ही यह Train-18  इंजनरहित है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी सेमी हाईस्पीड Train-18 का नई दिल्ली से प्रयागराज के बीच ट्रायल किया गया। यह ट्रेन शुक्रवार आधी रात को 12.55 पर दिल्ली से चलकर 130 किमी की रफ्तार से सुबह 7.48 पर इलाहाबाद जंक्शन पहुंची। इस ट्रेन के शनिवार दोपहर दो बजे इलाहाबाद से वापस रवाना होकर रात 8.25 बजे दिल्ली पहुंचने का अनुमान है।

उम्मीद है कि नए साल में दिल्ली-वाराणसी के बीच ट्रेन का संचालन शुरू हो जाएगा। 16 कोच वाली इस ट्रेन में दो एक्जीक्यूटिव श्रेणी के कोच हैं। सीसीटीवी कैमरे और पेंट्रीकार से लैस ट्रेन 80 सेकेंड के भीतर 130 की रफ्तार पकड़ने में सक्षम है। स्पीड ट्रायल की रिपोर्ट देखने के बाद रेलवे बोर्ड की अनुमति पर ट्रेन 18 नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चलाई जाएगी।

Train-18 नई दिल्ली से चलकर आधे घंटे की देरी से प्रयागराज जंक्शन पहुंची। खास बात यह है कि कानपुर से प्रयागराज तक का करीब 200 किलोमीटर का सफर ट्रेन ने महज 2 घंटे में तय किया।

गौरतलब है कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से यह ट्रेन शुक्रवार आधी रात 00.55 बजे रवाना हुई थी और शनिवार सुबह करीब 7.48 बजे ट्रेन प्रयागराज पहुंच गई। ट्रेन ने करीब 6.53 घंटे में दिल्ली से प्रयागराज का सफर तय किया। इसे 6.25 घंटे में ही प्रयागराज पहुंचना था। यह देश की सबसे तेज ट्रेन है और इसकी जानकारी खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल एक ट्वीट कर दे चुके हैं। इस ट्रेन की अधिकतम रफतार 180 किलोमीटर प्रति घंटा है।

ट्रेन-18 को 27 दिसंबर को ही ट्रॉयल पर दिल्ली से प्रयागराज जंक्शन पर आना था। उत्तर मध्य रेलवे ने स्पीड सर्टिफिकेट जारी कर दिया था लेकिन आरडीएसओ से कुछ प्रमाण पत्रों के कारण ट्रेन का ट्रायल नहीं हो सका। ट्रेन को कुंभ के दौरान प्रयागराज से नई दिल्ली स्टेशन के मध्य चलाए जाने की संभावना है।

पहली स्वदेश में बनी ट्रेन का ट्रायल नई दिल्ली से प्रयागराज तक हो रहा है। सरकार कुंभ के दौरान इस ट्रेन को नई दिल्ली से प्रयागराज तक चलाना चाह रही है। शुक्रवार देर रात ट्रेन को नई दिल्ली से प्रयागराज के लिए रवाना किया गया। 18 महीने में तैयार हुई यह ट्रेन शताब्दी की तरह वातानुकूलित है। साथ ही लग्जरी सुविधाओं से लैस है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »