professional courses में स्किल डेवलेपमेंट का बढ़ा महत्व

मथुरा। एकेटीयू द्वारा राजीव एकेडमी को पूरे उत्तर प्रदेश में सातवीं रैंक प्रदान किए जाने के बाद से यहाँ विभिन्न professional courses में एडमिशन लेने के लिए छात्र-छात्राओं का तांता लगा हुआ है। यहां संचालित होने वाले हर professional courses की एक अलग विशेषता है। जिसके कारण इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण करने के बाद छात्र-छात्राएं प्रवेश के लिए राजीव एकेडमी को ही प्राथमिकता दे रहे हैं। केवल मथुरा ही नहीं अपितु आगरा, एटा, मैनपुरी, इटावा, कानपुर, फिरोजाबाद, बिहार, लखनऊ, अलीगढ़, आदि क्षेत्रों के छात्र-छात्राएं भी लगातार प्रवेश के लिए पूछताछ कर रहे हैं।
राजीव एकेडमी के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सैना लगातार छात्र-छात्राओं के रूझान पर नजर रख रहे हैं। डा. सक्सैना का कहना है कि एमबीए और एमसीए ऐसे कोर्सेस हैं। जिनकी उपयोगिता पूरी दुनियां में है, क्योंकि किसी भी professional courses में स्नातक डिग्री के बाद मास्टर डिग्री कोर्स छात्र-छात्राओं को उच्च स्तरीय सफलता दिलवाता है। विभिन्न कोर्स को एक दृष्टि में रखते हुए उन्होंने बताया कि एमबीए द्विवर्षीय व एमसीए कार्से फुल टाइम त्रिवर्षीय कोर्स हैं। जो छात्र-छात्राएं बीसीए या बीएससी कम्प्यूटर साइंस या आईटी विषयों में स्नातक हैं, वे लेटरल एण्ट्री में सीधे प्रवेश ले सकते हैं। ये दोनों कोर्स डा. एपीजे अब्दुल कलाम टैक्नीकल यूनीवर्सिटी लखनऊ से अपू्रव्ड है।
संस्थान में बीबीए, बीसीए, बीएससी (कम्प्यूटर साइंस) एवं बीई-काॅम कोर्सेज़ जो कि डा. भीमराव अम्बेडकर यूनीवर्सिटी से अप्रूव्ड हंै। इनमें 12वीं के बाद प्रवेश ले सकते हैं। बीबीए त्रिवर्षीय प्रबंधन के क्षेत्र में स्नातक कोर्स है। इसमें किसी भी स्ट्रीम में इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं प्रवेश ले सकते हैं।
बीसीए जो कि कम्प्यूटर एपलिकेशन में त्रिवर्षीय स्नातक कोर्स है जिसमें इण्टरमीडिएट गणित विषय के साथ उत्तीर्ण होने वाले छात्र-छात्राएं प्रवेश ले सकते हैं।
निदेशक ने बताया कि राजीव एकेडमी में कम्प्यूटर साइंस में बीएससी कोर्स त्रिवर्षीय कोर्स है जिसमें (पीसीएम) विषय से इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं प्रवेश ले सकते हैं। इसी कोर्स के अलावा इलैक्ट्राॅनिक काॅमर्स (बीई-काॅम) भी बहुत लोकप्रिय त्रिवर्षीय कोर्स है जिसमें किसी भी स्ट्रीम के साथ इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं प्रवेश ले सकते हैं। आज के बढ़ते हुए ई-व्यापार जगत में इस कोर्स का बहुत महत्व है।
निदेशक ने बताया कि राजीव एकेडमी छात्र-छात्राओं और अभिभावकों की अपेक्षाओं पर हमेशा खरा उतरा है और उच्च व्यावसायिक अध्ययन के प्रत्येक छात्र-छात्राओं को उच्च पैकेज पर जाॅब दिलाने के लिए संकल्पित हैं। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओं में अपार प्रतिभा है। इसी को निखारने के लिए राजीव एकेडमी उन्हें गुणवत्ता परक व्यावसायिक शिक्षण प्रदान करता है। प्रतिवर्ष सैकड़ों छात्र-छात्राएं देशी व विदेशी कम्पनियों में जाॅब इण्टरव्यू के माध्यम से उच्च पैकेज पर नौकरी भी प्राप्त कर रहे हैं।

आजकल प्रत्येक अभिभावक यह चाहता है कि अध्ययन के दौरान ही उनका पाल्य अच्छे पैकेज पर नौकरी प्राप्त कर लें। राजीव एकेडमी में इसी धारणा को मूर्तरूप देते हुए अपने प्रत्येक विभाग में इसी विचार को साकार रूप देने का क्रम जारी रखा हुआ है। प्रतिवर्ष यहां छात्र-छात्राएं स्नातक स्तर पर ही जाॅब प्लेसमेंट में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए देशी विदेशी कम्पनियों में नौकरी के लिए सलेक्ट हो रहे हंै। मुख्यरूप से छात्र-छात्राओं का बीबीए, बीसीए, बीएससी(सीएस) और इलैक्टाॅनिक कामर्स पर अधिक फोकस है।

स्नातकोत्तर कोर्सों में एमबीए और एमसीए कोर्सों पर बहुसंख्यक छात्र-छात्राओं की नजरें टिकी हैं क्योंकि एमबीए और एमसीए छात्र-छात्राओं का रिकार्ड उच्च पैकेज पर नौकरी के लिए चयन हुआ है। राजीव एकेडमी में उच्च गुणवत्ता पर शिक्षा उपलब्ध होने के पीछे यहाँ उपलब्ध अत्याधुनिक संसाधन व पीडीपी क्लासें अभिभावक और छात्र-छात्राओं की पशन्द हंै। आज हरेक छात्र-छात्रा का सपना भी यही है कि अध्ययन के साथ-साथ अच्छे पैकेज पर जाॅब मिले। अर्थात शिक्षा और अच्छा जाॅब प्लेसमेंट यही आज के विद्यार्थी और अभिभावकों की प्राथमिकता है। इसी कारण राजीव एकेडमी में-प्रवेश लेने के इच्छुक छात्र-छात्राओं की भीड़ लगी है। इसी बात से संस्थान का स्टूडेण्ट ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। छात्रों के साथ अनेक अभिभावक भी लगातार संपर्क करते देखे जा रहे हैं।

रोजगार प्रदान करने वाले यहाँ दो और कोर्स एम.लिब. और बी.लिब. भी काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। बी.लिब. कोर्स एकवर्षीय कोर्स है। जिसमें पचास प्रतिशत अंकों से बैचलर डिग्री उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं प्रवेश ले सकते हैं। एम.लिब. एक वर्षीय मास्टर डिग्री कोर्स है। जिसमें पचास प्रतिशत अंकों से बी.लिब. उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं प्रवश ले सकते हैं।

आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि राजीव एकेडमी में उच्च व्यावसायिक अध्ययन के समस्त कोर्सों के छात्र-छात्राएं अध्ययन के साथ-साथ अच्छे पैकेज पर रोजगार प्राप्त कर रहे हैं। आरके एजुकेशन हब का संकल्प है कि आने वाले समय में अध्ययन-अध्यापन के क्षेत्र में वे आने वाली नई तकनीकें, जिनके माध्यम से छात्र-छात्राओं को और अधिक लाभ हो सकता है, को अपनायेंगे। प्राध्यापकगण भी अपने नजरिये से छात्र-छात्राओं को सरलतम तरीके से उच्च व्यावसायिक अध्ययन में अब्बल रहने के टिप्स दे रहे हैं। छात्र-छात्राएं भी इसका लाभ निरन्तर ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *