दर्दनाशक होता है हरश्रृंगार के फूलों से तैयार हर्बल तेल

हरश्रृंगार या हरसिंगार के पुष्प बहुत ही सुंदर और खुशबूदार और सोबर होते हैं। हरश्रृंगार को प्राजक्ता, शिउली और पारिजात नाम से भी जाना जाता है। इसकी खूशबू इतनी मोहक होती है कि जहां यह वृक्ष लगा हो वहां आस-पास का वातावरण हर समय महकता रहता है। हरश्रृंगार को Night Jasmine भी कहा जाता है।
हरश्रृंगार के फूलों की खूबियां
-हरश्रृंगार या पारिजात के इस वृक्ष पर साल में एक ही बार फूल खिलते हैं। ये फूल सर्दियों के मौसम की शुरुआत में आते हैं यानी सितंबर-अक्टूबर और नवंबर में। इन फूलों की लाइफ बहुत कम होती है लेकिन सूखने के बाद भी इनकी महक बरकरार रहती है।
-हरश्रृंगार के फूलों का उपयोग साज-सज्जा से लेकर गजरे बनाने, पूजा-पाठ, औषधीय तेल और आयुर्वेदिक दवाएं तैयार करने में किया जाता है।
हरश्रृंगार से तैयार हर्बल-टी की खूबियां
-हरश्रृंगार के पत्तों से तैयार हर्बल-टी बहुत अधिक लाभकारी होती है क्योंकि ये एंटिऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं। यह हर्बल-टी शरीर की थकान दूर करने और मन को शांति देने का काम करती है।
दर्दनाशक का काम करता है तेल
-हरश्रृंगार के फूलों से तैयार हर्बल तेल बहुत अच्छा दर्दनाशक होता है। खासतौर पर यह शरीर के जोड़ों में होनेवाले दर्द में बहुत प्रभावी तरीके से राहत देने का काम करता है।
इन दो दर्द में है खास प्रभावी
-जिन लोगों को अर्थरॉइटिस की समस्या रहती है, उन्हें घुटने, कमर, कंधे, कोहनी, एड़ी जैसी जगहों पर असहनीय दर्द होता है। इसके साथ ही जिन लोगों को डेंगू हो जाता है, उन्हें भी हड्डियों में दर्द की समस्या बहुत लंबे समय तक परेशान करती है।
-डेंगू में होनेवाला हड्डियों का दर्द इतना अधिक पीड़ादायक होता है कि रोगी खुद को लाचार महसूस करने लगता है। इन दोनों ही दर्द से मुक्ति दिलाने में हरश्रृंगार का तेल बहुत अधिक लाभकारी होता है।
एंटिएलर्जिक होता है यह ऑइल
-हरश्रृंगार के फूलों से तैयार तेल में ऐंटिएलर्जिक प्रॉपर्टीज भी पाई जाती हैं। जिन ब्यूटी प्रॉडक्ट्स और बॉडी सीरम इत्यादि में इस तेल का उपयोग किया जाता है, उन्हें लगाने से त्वचा पर जल्दी से किसी तरह के बैक्टीरिया और फंगस ऐक्टिव नहीं होते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *