Heilongjiang प्रांत बन रहा है दूसरा वुहान, 300 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मिले

पेइचिंग। जब पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का हाहाकार मचा है, चीन ने अपने सबसे ज्यादा प्रभावित शहर वुहान से लॉकडाउन हटाना शुरू कर दिया तभी Heilongjiang में वायरस फैलने की खबरें आ रही हैं।
हालांकि, COVID-19 का इन्फेक्शन झेलने वाले चीन की मुसीबत अभी तक खत्म नहीं हुई है क्योंकि अब यहां के एक और प्रांत में वुहान जैसे हालात देखे जा रहे हैं। उत्तरी चीन के Heilongjiang प्रांत में अब तक 300 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से ज्यादातर दूसरे देशों से आए हुए हैं। इनके अलावा ऐसे मामलों में भी बढ़ोत्तरी देखी गई है जिनमें मरीज में लक्षण ही नहीं होते हैं। ऐसे में यहां हजारों हॉस्पिटल बेड्स तैयार किए जा रहे हैं।
रूस से वापस आए लोग पॉजिटिव​
Heilongjiang प्रांत के सुइफिन शहर को 7 अप्रैल को लॉकडाउन कर दिया गया था। इसकी सीमा रूस से सटी है। रूस आने-जाने के हवाई रास्ते पर तो रोक लगा दी गई है लेकिन सड़कें अभी तक खुली हैं। इसके चलते वहां से लोग अभी भी यहां दाखिल हो रहे हैं। सोमवार को हेलोनजियांग में पाए गए 79 नए मामले ऐसे लोगों के थे जो रूस से वापस लौटे थे। इससे पहले के आंकड़ों पर नजर डालें तो 27 मार्च से लेकर 9 अप्रैल तक करीब 100 केस बाहर से आए हुए लोगों के थे जबकि 148 केस ऐसे लोगों के थे जिनमें लक्षण नहीं थे। इस दौरान सिर्फ 3 स्थानीय केस देखे गए।
​​अस्थायी अस्पताल, मेडिकल टीम तैयार
सुइफिन में 600 बेड का अस्थायी अस्पताल तैयार किया जा रहा है। करीब 70,000 लोगों को लॉकडाउन में रखा गया है। हर घर से सिर्फ एक शख्स को 3-3 दिन पर घर से बाहर जरूरी सामान लाने के लिए जाने की इजाजत होगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक हेलोन जियांग में दूसरी जगहों पर करीब 4,000 बेड के अस्पताल बनाए जाने का प्लान है। इसके अलावा करीब 1,100 सदस्यों वाली एक मेडिकल सपॉर्ट टीम भी तैयार की जाएगी जिसके लिए आवेदन मांगे गए हैं।
​मंडरा रहा है खतरा​
अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के डायरेक्ट रॉबर्ट रेडफील्ड के मुताबिक इन्फेक्शन के शिकार हुए करीब 25% मामलों में कोई लक्षण नहीं दिखता है। ऐसे मामलों में की बार इन्फेक्शन फैलने के 48 घंटे बाद लक्षण दिखने शुरू होते हैं। यहां तक कि ठीक होने के बाद भी लोग पॉजिटिव टेस्ट किए गए हैं। चीन ने हालिया आंकड़ा जारी करते हुए ऐसे मामलों को शामिल नहीं किया था जिनमें लक्षण नहीं देखे गए। चीन में अब तक 82,249 पॉजिटिव लोगों में से 77,738 लोग ठीक हो चुके हैं।
असलियत छिपा रहा ​प्रशासन?
हेलोनजियांग के स्थानीय लोगों का आरोप है कि प्रशासन असल हालात पर पर्दा डालने के लिए ऐसा कह रहा है कि अब सामने आ रहे केस दूसरे देशों से आ रहे हैं। उनका कहना है कि अगर यह स्वीकार किया गया कि स्थानीय स्तर पर इन्फेक्शन फैल रहा है तो यह साबित हो जाएगा कि दरअसल, वायरस को फैलने से रोका नहीं जा सका है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *