स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, अवैध बूचड़खानों के खिलाफ ही कार्यवाही होगी

Health Minister Siddharthnath Singh said, action will be taken against illegal slaughterhouses
स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, अवैध बूचड़खानों के खिलाफ ही कार्यवाही होगी

लखनऊ। यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि यूपी के अवैध बूचड़खानों के खिलाफ ही कार्यवाही की जाएगी, लेकिन वैध बूचड़खानों को डरने की जरूरत नहीं है। सिर्फ उनके खिलाफ ही कार्यवाही की जाएगी जो गलत काम करते हैं।
पिछले कई दिनों से ही यूपी के कई शहरों में योगी सरकार के इस फैसले का विरोध हो रहा है। शनिवार और रविवार भी कई दुकानें बंद रहीं और सड़कों पर व्यापारियों ने विरोध जताया। शहर में 100 से अधिक अवैध मीट शॉप संचालित हो रही थीं, लेकिन प्रशासन इस तरफ आंख मूंदे हुए था। अब आदेश मिलते ही एफएसडीए (खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन) हरकत में आया। ताबड़तोड़ छापेमारी में 16 अवैध मीट शॉप बंद करा दी गईं। एफएसडीए के मुताबिक इन दुकानों के पास खाद्य लाइसेंस नहीं था।
बीफ बंद होने के बाद रविवार से शहर में चिकन और मटन का गोश्त भी बिकना बंद हो गया। गोश्त काटने वाले कसाईयों का कहना है कि बीफ के साथ अब वह विरोध में चिकन और मटन का गोश्त भी नहीं बेचेंगे। इसके साथ रविवार से ही पुराने लखनऊ समेत शहर के नॉनवेज होटल भी हड़ताल की तैयारी में हैं। उत्तरप्रदेश में बूचड़खानों के खिलाफ योगी सरकार की कार्यवाही से सभी चिकन और मीट कारोबारी परेशान हैं। प्रदेश में चल रहे बूचड़ाखानों के बंदी के विरोध में मीट कारोबारियों ने सोमवार को भी दुकानें बंद रखने का आह्वान किया है। इस बंद में केवल मीट व्यापारी नहीं, बल्कि मछली और चिकन कारोबारी भी शामिल है। मुर्गे और बकरे के मीट की दुकानें रविवार को बंद रहीं। सभी दुकानें बंद होने के कारण मीट की खरीदारी नहीं हुई। दुकानें बंद होने से होटलों में मीट की सप्लाई न के बराबर हो रही है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *