संस्कृति Homeopathic के चिकित्सकों ने किया स्वास्थ्य परीक्षण

संस्कृति Homeopathic कालेज के चिकित्सकों ने निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाया। इस शिविर का सैकड़ों लोगों ने लाभ प्राप्‍त किया। शिविर में स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें दवाएं वितरित कीं। वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डा. अंजली बाबर ने बताया कि संस्कृति Homeopathic मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल जनपद मथुरा के लोगों के स्वास्थ्य लाभ को लेकर लगातार चिकित्सा शिविर लगा रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को नरी सेमरी में चिकित्सा शिविर लगाया गया। सुबह नौ से अपराह्न ढाई बजे तक चले चिकित्सा शिविर में सैकड़ों ग्रामीण महिला-पुरुष और बच्चों का परीक्षण कर उन्हें निःशुल्क दवाएं वितरित की गईं। डा. बाबर का कहना है कि होम्योपैथी औषधियां मनुष्य को न केवल निरोगी बनाती हैं बल्कि इनका कोई शरीर पर दुष्प्रभाव भी नहीं पड़ता। डा. बाबर का कहना है कि संस्कृति होम्योपैथिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल द्वारा जहां भी शिविर लगाए जा रहे हैं, वहां के लोगों को स्वास्थ्य एवं शारीरिक स्वच्छता के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है।

शिविर प्रभारी  डा. बृजनंदन पटसारिया का कहना है कि संस्कृति होम्योपैथिक हास्पिटल में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम होने के चलते यहां मरीजों को असाध्य से असाध्य रोगों के उपचार की सुविधा मुहैया कराई जाती है। गम्भीर मरीजों के उपचार के लिए यहां भर्ती सुविधा भी है। यहां डायबिटीज, ग्लूकोमा, रेटिना संबंधी आंख की बीमारियों, कील-मुंहासे, ब्यूटी क्लीनिकल टिप्स, बालों का झड़ना, गंजापन, सभी प्रकार के चर्म रोग, माईग्रेन, मेंटल डिप्रेशन, हिस्टीरिया, जोड़ों का दर्द, गठियावात, महिलाओं के गर्भाशय की गठान,मोटापा, पथरी, मानसिक दुर्बलता, सभी तरह की एलर्जी, पीलिया आदि बीमारियों का निःशुल्क इलाज विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा किया जाता है। डा. पटसारिया ने बताया कि इस निःशुल्क होम्योपैथिक चिकित्सा शिविर में आए मरीजों में अधिकांश लोग सर्दी-जुकाम, गठिया वाय, खुजली, दाद, शुगर, बांझपन और रक्तचाप से पीड़ित थे। अधिकांश बच्चे पेट में कीड़े से परेशान मिले। इस शिविर में गायनी विशेषज्ञ डा. प्रिया भारद्वाज, डा. अनिल कुशवाह, डा. शिवशंकर सिंह आदि ने मरीजों का परीक्षण कर उन्हें परामर्श दिया। सुखराज सिंह ने मरीजों को दवाएं वितरित कीं।

कुलाधिपति सचिन गुप्ता का कहना है कि संस्कृति यूनिवर्सिटी चिकित्सा शिविरों के माध्यम से सिर्फ मथुरा ही नहीं उनके आसपास के जिलों के मरीजों को भी स्वास्थ्य लाभ देना चाहती है। संस्कृति होम्योपैथिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल, संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल, संस्कृति यूनानी मेडिकल कालेज एण्ड हास्पिटल के माध्यम से संस्कृति यूनिवर्सिटी युवा पीढ़ी को भारतीय चिकित्सा शिक्षा और उपचार की दिशा में लगातार प्रोत्साहित कर रही है। गांवों में शिविर लगाने का उद्देश्य ग्रामीणों का समय और पैसा बचाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »