मार थोमा चर्च के मुखिया डॉ. जोसेफ का निधन, पीएम ने शोक जताया

पठानमिट्टा। मार थोमा चर्च के मुखिया डॉ. जोसेफ मार थोमा मेट्रोपॉलिटन का निधन हो गया है। वह 89 वर्ष के थे। डॉ. जोसेफ उम्र से संबंधित बीमारियों से पीड़ित थे। वह केरल के थिरुवला के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती थे। जहां रात ढाई बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उन्होंने गरीबों और उपेक्षित लोगों के जीवन में सुधार लाने के लिए कड़ा परिश्रम किया। उनके आदर्शों को हमेशा याद रखा जाएगा।
पीएम मोदी ने लिखा, ‘डॉ. जोसेफ मार थोमा मेट्रोपॉलिटन आकर्षक व्यक्तित्व वाले थे जिन्होंने इंसानियत की सेवा की और गरीब व उपेक्षित वर्ग के जीवन में सुधार लाने के लिए मेहनत की। वह सहानुभूति और विनम्रता से भरे हुए थे। उनके नेक आदर्शों को हमेशा याद रखा जाएगा। उनकी आत्मा को शांति मिले।’
90वें जन्मदिन पर पीएम मोदी ने किया था संबोधन
पीएम मोदी ने आगे लिखा, ‘कुछ महीने पहले, उनके 90वें जन्मदिन पर मुझे संबोधित करने का सम्मान मिला था। इसी के साथ पीएम मोदी ने यूट्यूब का लिंक भी शेयर किया है।’
मरेमन कंवेंशन के मुख्य संजोयक थे
डॉ. जोसेफ 1999 में सुफ्रागन मेट्रोपॉलिटन नियुक्त किए गए। 2007 में वह मेट्रोपॉलिटन नियुक्त हुए और 13 साल तक मार थोमा चर्च का प्रबंधन संभाला। वह मरेमन कंवेंशन के मुख्य संजोयक भी थे। जोसेफ मार थोमा मेट्रोपॉलिटन फिलिपोज मार क्रिसॉसटम के उत्तराधिकारी थे।
27 जून 1931 को हुआ था जन्म
जॉ. जोसेफ का जन्म 27 जून 1931 को हुआ था। उनका असली नाम पीटी जोसेफ था। 1957 में वह चर्च के पादरी बने। 1975 में उन्होंने जोसेफ मार इरेनियस की उपाधि मिली।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *