मोहम्मद शमी के घर पहुंची हसीन जहां, सशर्त साथ रहने को तैयार

अमरोहा। क्रिकेटर मोहम्मद शमी और उनकी पत्नी हसीन जहां के बीच चल रहे विवाद में नया मोड़ आया है। रविवार को शमी के घर पहुंचीं हसीन जहां ने साफ संकेत दिए हैं कि वह फैमिली को बचाना चाहती हैं लेकिन इसके लिए शमी को उनकी कुछ शर्तें माननी होंगी।
हसीन ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उनके आने का मकसद अपने परिवार को टूटने से बचाना है। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेरा उनके घर पर हक है और मैं उनकी बीवी हूं। साथ ही हसीन ने कहा कि वह रिश्ता निभाना चाहती हैं और उनको माफी मांगनी चाहिए।
यूपी के अमरोहा जिले के डिडोली थाने के सहजपुर अलीनगर गांव में क्रिकेटर शमी का पैतृक घर है। रविवार को जब हसीन जहां यहां पहुंचीं, तो घर में ताला लगा मिला। इसके बाद उन्होंने शमी के ताऊ के यहां अपना सामान रखा है। हसीन जहां के साथ उनकी बेटी और वकील भी मौजूद रहे।
‘माफी मांग लेगा, तो बच जाएगा घर’
मीडिया से बातचीत करते हुए हसीन ने कहा, ‘मेरी बच्ची धूप में दौड़ रही है। मैं यहां सामने के घर में बैठी हुई हूं। मेरा घर होते हुए, मेरा अधिकार होते हुए ये लोग मेरे साथ किस तरह का बर्ताव कर रहे हैं आप देख सकते हैं।’
जब पत्रकारों ने पूछा कि उनका अगला कदम क्या होगा, तो हसीन जहां ने जवाब दिया कि ‘मैंने पहले भी कहा है कि मैं किसी भी हाल में यह रिश्ता टूटने नहीं दूंगी। इसके लिए मुझे कुछ भी करना पड़े। लेकिन शमी ने जो गलती की है, उस गलती का एहसास करके उसे माफी मांगनी चाहिए। उन्हें हर हाल में माफी मांगनी होगी और जिस दिन वह माफी मांग लेगा मेरा घर बच जाएगा। मैं घर नहीं टूटने दूंगी और मैं अपना अधिकार नहीं छोड़ूंगी।’
‘अभी शमी के घर रहूंगी’
जब मीडिया ने पूछा कि शमी के गांव में वह कब तक रहेंगी, तो हसीन जहां ने जवाब दिया, ‘अभी मैं यहां रहूंगी। मेरी बच्ची मेरे साथ आई है। एडवोकेट जाकिर सर मेरे साथ आए हैं। मेरी बच्ची की देखभाल के लिए मेड भी आई है।’
पुराने आरोपों पर सवाल पूछे जाने पर हसीन ने कहा, ‘मैंने जो हकीकत है वह बयां की है। आप लोगों ने देखा है कि हर एक सबूत देकर मैंने आप लोगों से बात की है, जबकि शमी ने फ्रॉड बातें करके अपने गुनाहों को ढका है लेकिन आप लोगों के सामने बैठ करके वह झूठी बातें कहता रहा और आप लोगों ने एक भी सवाल उनसे नहीं किया। मुझे तो यह लगता है कि शमी से ज्यादा पढ़े-लिखे आप लोग हैं लेकिन फिर भी एक कम पढ़ा-लिखा हुआ आदमी होकर भी वह आप लोगों को बेवकूफ कैसे बना गया। अपनी चालाकियों से अपनी गलतियों को वह ढकता रहा लेकिन आप लोगों ने सवाल का जवाब तक नहीं लिया।’
मीडिया पर हसीन जहां के आरोप
हसीन जहां ने मीडिया पर खुद को विलेन बनाने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘उसकी गलती को छिपा कर आप लोगों (मीडिया) ने एकतरफा मुझे विलेन बना दिया। हालांकि अल्लाह भी गवाह है, गांव के लोग भी गवाह हैं, मेरे घरवाले भी गवाह हैं, मेरे फ्रेंड सर्कल के लोग भी गवाह हैं कि मेरा कोई गुनाह नहीं है। एक न दिन यह साबित हो ही जाएगा।’
जब हसीन से पूछा गया कि शमी के गांव में वह कब तक रुकेंगी, क्या शमी से मुलाकात करने के बाद जाएंगी, तो उन्होंने कहा कि ‘मैंने डिडोली थाने के इंस्पेक्टर से बात की, मैंने उन्हें सारी बातें बताईं। वह अभी पूरी टीम को लेकर आए हैं। उन्होंने मुझे दिलासा दी है कि वह पूरी तरीके से मेरा साथ दे रहे हैं। मानसिक रूप से भी सपोर्ट कर रहे हैं। वह अपने साथ महिला पुलिस लेकर आए हैं। उन्होंने मुझे वादा किया है कि चाबी लेकर ताला खुलवा कर वह मुझे घर में घुसवाएंगे।’
‘शमी के बड़े भाई से जान का खतरा’
हसीन जहां से पत्रकारों ने पूछा कि ससुराल में आने के लिए उन्हें पुलिस की जरूरत क्यों पड़ी, तो उन्होंने कहा कि ‘शमी के बड़े भाई हसीब जिसका क्रिमिनल रेकॉर्ड है और फ्रॉड आदमी है, वह मेरे साथ कुछ भी कर सकता है। वह इस चक्कर में है कि अपनी साली के साथ शमी की शादी करवाए। वह हर हाल में शमी और मेरा रिश्ता तुड़वाना चाहता है। वह मुझे जान से मारने की कोशिश पहले भी कर चुका है। उस हाल में अब जब इतना कुछ हो गया है तो वह तो मुझे जान से मारेगा ही। मुझे अपनी सुरक्षा की चिंता थी इसलिए मैं डिडोली इंस्पेक्टर के पास गई और उन्हें अपनी समस्या के बारे में बताया और उन्होंने मुझे फुल सपॉर्ट किया।’
क्या है शमी-हसीन जहां का विवाद
मार्च 2018 में हसीन जहां ने शमी और कई महिलाओं के बीच हुई चैटिंग के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर पोस्ट कर बेवफाई का आरोप लगाया था। हसीन ने शमी पर दूसरी महिलाओं से संबंध रखने का आरोप लगाया, जिसे शमी ने सिरे से खारिज कर दिया था। हसीन ने अपने पति शमी के खिलाफ दूसरी महिला से शारीरिक संबंध बनाने के अलावा घरेलू हिंसा का केस भी दर्ज कराया था।
कोलकाता पुलिस ने शमी और उनके चार परिजनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 498 ए, 323, 307, 376, 506, 328 और 34 के तहत केस दर्ज किए थे। 18 अप्रैल को शमी और उनके बड़े भाई से कोलकाता पुलिस ने आरोपों के संबंध में पूछताछ की थी।
शमी के चौतरफा विवादों में घिरने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने उनका सालाना करार रद्द कर दिया था। बाद में अपनी जांच में बोर्ड ने शमी को क्लीन चिट देते हुए बी-ग्रेड में रखा। आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) के 11वें संस्करण में शमी दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम से खेल रहे हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »