मैच हारने के बाद पाकिस्तान में हसन अली का नाम ट्विटर का दूसरा टॉप ट्रेंड है

वर्ल्ड कप टी-20 का दूसरा सेमीफ़ाइनल गुरुवार को पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया.
न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड के बीच खेले गए पहले सेमीफ़ाइनल की ही तरह दूसरा सेमीफ़ाइनल भी बेहद रोमांचक रहा और इस मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को पाँच विकेट से हरा दिया.
ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाज़ी करने का न्योता दिया था.
पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 177 रनों का लक्ष्य रखा था. ऑस्ट्रेलिया ने अंतिम ओवर शेष रहते ये लक्ष्य हासिल कर लिया. हालाँकि एक समय ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 12.2 ओवरों में 5 विकेट के नुक़सान पर 96 रन था और ऐसा लग रहा था कि पाकिस्तान ये मुक़ाबला जीत सकता है.
डेविड वॉर्नर, ऐरॉन फ़िंच, स्टीव स्मिथ और मैक्सवेल जैसे धुरंधर बल्लेबाज़ों को आउट करने के बाद मैच लगभग पाकिस्तान के हाथ में था, लेकिन जब मैथ्यू वेड केवल 21 रन पर थे तब उनका कैच शाहीन अफ़रीदी की गेंद पर हसन अली ने छोड़ दिया.
हसन अली के हाथ से मैथ्यू वेड का कैच छूटने के बाद वेड के बल्ले से चौकों-छक्कों की बारिश शुरू हो गई, जिसकी बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखा दिया.
कुछ लोग जहाँ ‘कैच का छूटना मैच का छूटना’ कहकर हसन अली को हार का ज़िम्मेदार बता रहे हैं. वहीं कुछ लोग उनकी पत्नी के भारतीय होने को भी मुद्दा बना रहे हैं लेकिन बड़ी संख्या में लोग हसन अली का समर्थन भी कर रहे हैं.
भारत में जहाँ हसन अली ट्विटर पर 13वें नंबर पर ट्रेंड कर रहे हैं, वहीं पाकिस्तान में हसन अली का नाम ट्विटर का दूसरा टॉप ट्रेंड है. एक तबका जहाँ हसन अली को मैच का कुसूरवार बता रहा है वहीं बहुत से लोग उनके समर्थन में भी आए हैं.
सनी नाम के एक यूज़र ने हसन अली और शाहीन पर निशाना साधते हुए लिखा है कि ऐसा करने के लिए उनके अकाउंट्स में ड्रिंक्स ब्रेक से पहले पैसे ट्रांसफ़र कर दिए गए.
लेकिन आलोचकों और ट्रोलर्स से इतर एक बहुत बड़ा तबक़ा हसन अली के समर्थन में भी सामने आया है.
साज सादिक़ लिखते हैं- एक शानदार क्रिकेटर और मैच विजेता. किसी का भी दिन ख़राब हो सकता है. हसन अली समर्थन के पात्र हैं, गाली-गलौज या उंगली उठाने के नहीं.
हसन अली के सुन्नी होने और उनकी पत्नी के भारतीय होने का ज़िक्र करते हुए भी कई लोगों ने उन्हें ट्रोल किया है.
हसन अली की पृष्ठभूमि
गुजरांवाला के नज़दीक लढेवाला वड़ैच गाँव के रहने वाले तेज़ गेंदबाज़ हसन अली बेहद साधारण परिवार से आते हैं. हसन अली आज की तारीख़ में पाकिस्तान क्रिकेट टीम का एक अहम हिस्सा और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की दुनिया के जाने-माने नाम हैं.
गलियों में क्रिकेट खेलकर बड़े हुए हसन अली ने अंडर-16 टूर्नामेंट्स से अपने करियर की शुरुआत की. इसके बाद वे लाहौर गए और सैयद पेपर्स टीम के लिए ग्रेड टू क्रिकेट खेला. इसके बाद उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में क़दम रखा. पाकिस्तान सुपर लीग में खेलकर वो लोगों की नज़र में आए.
हसन अली के करियर को आगे बढ़ाने में सबसे अहम भूमिका उनके भाई अता-उर-रहमान की रही है. जिन्होंने क्रिकेट के प्रति उनके जुनून को आगे बढ़ाने में सबसे अधिक सहयोग किया.
हसन अली ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह पहले कबड्डी खेलते थे लेकिन उनके बड़े भाई ने क्रिकेट के प्रति उनके जुनून को ज़िंदा रखा और आज वह जिस मुक़ाम पर हैं, उनके बदौलत ही हैं.
चैंपियन्स ट्रॉफ़ी 2017 में उन्हें बेस्ट क्रिकेटर चुना गया था. इसके अलावा वह इमर्जिंग प्लेयर ऑफ़ द ईयर भी रह चुके हैं.
भारतीय मूल की हैं हसन अली की पत्नी
हसन अली की पत्नी भारतीय मूल की हैं. शामिया आरज़ू के साथ उन्होंने अगस्त 2020 में दुबई में शादी की थी. हसन की पत्नी शामिया हरियाणा से हैं और एमिरेट्स एयरलाइन्स में फ़्लाइट इंजीनियर हैं. जबकि उनका परिवार नई दिल्ली में रहता है. हसन वो चौथे पाकिस्तानी खिलाड़ी हैं जिनकी पत्नी भारतीय मूल की हैं. इससे पहले ज़हीर अब्बास, मोहसिन ख़ान और शोएब मलिक ने भी भारतीय मूल की महिलाओं से शादी की है.
हसन अली के अलावा शाहीन अफ़रीदी भी कर रहे हैं ट्रेंड
हसन अली के अलावा शाहीन अफ़रीदी का नाम भी ट्विटर ट्रेंड में शामिल है. दरअसल, निर्णायक ओवर में वेड ने शाहीन अफ़रीदी की ही लगातार तीन गेंदों पर छक्के लगाए जिससे ऑस्ट्रेलिया ने एक ओवर शेष रहते ही मैच अपने नाम कर लिया.
कुछ लोग जहाँ हसन अली को मैच में हार का ज़िम्मेदार बता रहे हैं वहीं कुछ लोगों का मानना है कि शाहीन के ओवर में तीन छक्कों के कारण मैच पाकिस्तान की झोली से निकलकर ऑस्ट्रेलिया के खाते में चला गया.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *