Haryana: जाट आंदोलनकारियों ने 200 पुलिसकर्मियों को बंधक बनाया, 2 बसों में आग लगाई

Haryana: Jat agitators make 200 policemen hostage, 2 buses set on fire
Haryana: जाट आंदोलनकारियों ने 200 पुलिसकर्मियों को बंधक बनाया

पानीपत। Haryana के फतेहाबाद में जाट आंदोलनकारियों ने पुलिस की 2 बसों में आग लगा दी है और करीब 200 पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया है। पथराव में एक डीएसपी को चोट आई है।
उनके अलावा कुछ आंदोलनकारी और मीडियाकर्मी भी घायल हुए हैं। हालात को काबू करने के लिए मौके पर एक्स्ट्रा फोर्स बुलाई गई है। बता दें कि अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक गुट ने सोमवार को दिल्ली में संसद भवन का घेराव करने का एलान किया है। इसी को देखते हुए हरियाणा और दिल्ली में सिक्युरिटी टाइट की गई है।
धारा-144 के बीच फतेहाबाद के गांव ढाणी गोपाल में धरने पर जाट समुदाय के लोग आ रहे थे। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश तो उन्होंने ट्रैक्टर-ट्रॉली से बैरिकैड्स तोड़ दिए।
पुलिस ने उन्हें काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज कर दिया। इससे भड़के प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की दो बसों में आग लगा दी और करीब 200 पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया।
सिर पर पत्थर लगने से डीएसपी गुरदयाल सिंह घायल हो गए हैं। कुछ आंदोलकारी और मीडियाकर्मियों को भी चोट आई हैं।
आंदोलनकारियों ने कुछ मीडियाकर्मियों के कैमरे और मोबाइल छीन लिए। हालाब बेकाबू होने के बाद एक्स्ट्रा फोर्स बुलाई गई है।
सरकार की जाट नेताओं से हुई बातचीत
इस बीच यूनियन मिनिस्टर चौधरी बीरेंद्र सिंह, पीपी चौधरी, सीएम मनोहर लाल खट्टर और जाट नेताओं के बीच दिल्ली के हरियाणा भवन में बातचीत हुई।
बताया जा रहा है कि पिछले साल हुए जाट आंदोलन में दर्ज मुकद्दमे वापस लेने और जाट आंदोलनकारियों की तुरंत रिहाई पर पेंच फंसा हुआ है।
उधर, कुरुक्षेत्र में स्थानीय सांसद राजकुमार सैनी ने जाट नेता यशपाल मलिक पर उन्हें धमकियां देने के आरोप लगाए हैं।
कई जिलों में इंटरनेट सर्विस बंद की गई
हिसार, चरखी दादरी, रोहतक, झज्जर, भिवानी, कैथल, जींद, सोनीपत, पानीपत, फरीदाबाद, गुड़गांव और कई अन्य जिलों में इंटरनेट बंद कर दिया गया है।
एडमिनिस्ट्रेशन के ऑर्डर के मुताबिक इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके माहौल को खराब कर सकते हैं।
इसके अलावा हिसार, रोहतक, जींद, झज्जर पानीपत, सोनीपत, कैथल और करनाल में धारा-144 लगा दी गई है। इससे एक जिले से ट्रैक्टर-ट्रॉली दूसरे जिले में नहीं जा पाएगी।
कुछ जिलों में खुला डीजल-पेट्रोल बेचने पर पाबंदी लगा दी गई है तो कई जिलों में शराब की बिक्री भी बंद है।
सोनीपत में कुंडली बॉर्डर और गोहाना रोड बाईपास पर भारी-भारी पत्थर रख दिए गए हैं, ताकि आंदोलनकारी दिल्ली तक ट्रैक्टर-ट्रॉली या दूसरी गाड़ियां लेकर न पहुंच सकें।
NCR में रात को बंद रहेगी मेट्रो
जाट आंदोलन में शामिल प्रदर्शनकारियों को दिल्ली में दाखिल होने से रोकने के लिए पुलिस ने थ्री-लेवल सिक्युरिटी सर्किल तैयार किया है। दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है।
रविवार रात 11:30 बजे से से नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गुड़गांव में मेट्रो सर्विस बंद हो जाएगी। दिल्ली के कई रास्तों को बंद कर दिया गया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *