बल्लभगढ़ के निकिता हत्याकांड में हरियाणा सरकार का बड़ा ऐलान

फरीदाबाद। हरियाणा के बल्लभगढ़ में हुए निकिता हत्याकांड ने हर किसी को सन्न कर दिया है। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही को लेकर चौतरफा दबाव के बीच हरियाणा सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि निकिता मर्डर केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। इस फैसले की वजह यह है कि इस केस की सुनवाई रोजाना हो और आरोपियों को शीघ्र सजा दिलवाई जा सके। फरीदाबाद पुलिस को जल्द से जल्द चालान कोर्ट में पेश करने की हिदायत दे दी गई है।
पुलिस का दावा, 12 दिनों के अंदर चार्जशीट
इस मामले में स्थानीय पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही परिवार के सभी सदस्यों को पुलिस सुरक्षा दे दी गई है। पुलिस अधिकारियों का दावा है कि इस मामले में 12 दिनों के अंदर चार्जशीट फाइल कर दी जाएगी। निकिता के घर गुरुवार को भी नेताओं का जमघट लगा रहा। बता दें कि अग्रवाल कॉलेज के बाहर निकिता की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। निकिता को अगवा करने में असफल रहने पर ऐसा किया गया।
पुलिस पीआरओ ने बताया कि निकिता हत्याकांड में मुख्य आरोपी तौसीफ को हथियार देने वाले नूंह के अजहरुद्दीन को पुलिस ने बुधवार रात गिरफ्तार किया। अजहरुद्दीन गोली मारने के आरोपी तौसीफ के मामा इस्लामुद्दीन के गैंग का बताया जा रहा है।
आरोपी के वकील ने केस गुड़गांव ट्रांसफर करने की मांग की
तौसीफ को जेल भेज दिया गया है। उसके वकील ने मामले को गुड़गांव ट्रांसफर करने की मांग की है। अजरुद्दीन को भी जेल भेज दिया गया है। गुरुवार से निकिता के पिता, मां और भाई तीनों को अलग-अलग गनमैन दिए गए हैं जो 24 घंटे उनके साथ रहेंगे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने सभी सबूत जुटा लिए हैं। टीम सिर्फ सात दिनों में चार्जशीट पेश कर सकती है लेकिन अफसरों ने 12 दिन का समय लेकर चार्जशीट पेश करने को कहा है।
‘निकिता हत्याकांड में अभी और गिरफ्तारियां होंगी’
इधर निकिता के परिवार को सांत्वना देने गुरुवार सुबह करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरज पाल अम्मू उनके घर पहुंचे। उन्होंने कहा कि अभी इस मामले में 3 गिरफ्तारियां हुई हैं, 30 और होनी बाकी हैं, जो साल 2018 से जांच शुरू होने पर आगे होंगी। अम्मू के अलावा श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के पदाधिकारी और गो रक्षा हिन्दू दल दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी पहुंचे। सूरज पाल अम्मू ने कहा कि हाथरस कांड पर बोलने वाले कांग्रेस नेता अब चुप हैं, कैंडल मार्च निकालने वाले अब कहां हैं?
निकिता की हत्या के विरोध में आक्रोश, फांसी की मांग
फरीदाबाद में हुई हापुड़ की बेटी निकिता की हत्या को लेकर जिले के लोगों में आक्रोश है। घटना के विरोध में गुरुवार को कई संगठनों ने कैंडल मार्च निकालकर हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की। हिन्दू संगठन, करणी सेना, हिन्दू युवा वाहिनी समेत कई संगठनों ने न्याय नहीं मिलने पर सड़क पर उतरकर आंदोलन की चेतावनी दी। करणी सेना के जिलाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि निकिता की जिस बेखौफ तरीके से हत्या की गई है, उससे साफ है कि देश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। सरकार समाज और मानवता के दुश्मन के खिलाफ सख्त कार्यवाही करे। निकिता के हत्यारों को जल्द फांसी दी जाए।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *