हरियाणा: रेवाड़ी गैंगरेप केस की जांच के लिए SIT का गठन

रेवाड़ी। हरियाणा के रेवाड़ी में बोर्ड एग्जाम टॉपर के साथ गैंगरेप मामले की जांच के लिए SIT का गठन हुआ है। इसी के साथ हरियाणा के नूह जिले की एसपी नाजनीन भसीन को 19 साल की टॉपर छात्रा के साथ दुष्कर्म की जांच सौंप दी गई है। वहीं 3 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। एसपी ने पीड़िता से मुलाकात भी की।
उन्होंने कहा, ‘पीड़िता की हालत स्थिर है। मुख्य आरोपी की पहचान की जा चुकी है। हम मामले की हर कोण से जांच करेंगे।’ रेवाड़ी जिला अस्पताल में भर्ती पीड़िता की स्थिति पर मेडिकल सुपरिंटेंडेंट सुदर्शन पंवर ने कहा, ‘पीड़िता की हालत स्थिर है और वह ट्रामा से धीरे-धीरे उबर रही है। उसका एक्स-रे और अल्ट्रासाउंड कराया जा चुका है रिपोर्ट नॉर्मल है। हम लगातार उसकी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।’
उधर राष्ट्रीय महिला आयोग ने हरियाणा के डीजीपी को पत्र लिखकर रेवाड़ी गैंगरेप की अपडेट मांगी हैं। युवती के साथ गैंगरेप बुधवार को हुआ जब कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। उसी समय बस अड्डे से पंकज और मनीष नाम के दो युवकों ने युवती को लिफ्ट देने के बहाने अगवा कर लिया।
चूंकि आरोपी युवती के गांव के ही रहने वाले थे इसलिए वह उन्हें जानती थी। आरोपी युवती को लिफ्ट देकर उसे एक सुनसान स्थान पर ले गए जहां उसे नशीला पेय पदार्थ पिलाकर उससे सामूहिक बलात्कार किया।
महेंद्रगढ़ के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने कहा, ‘हम छापेमारी कर रहे हैं और उम्मीद है कि गिरफ्तारियां जल्द होंगी।’ उन्होंने कहा कि रेवाड़ी और महेंद्रगढ़ जिला और आसपास के इलाकों में छापेमारी की जा रही है। पीड़िता की मां ने कथित तौर पर कोई कार्रवाई न होने पर पुलिस पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी बेटी घटना के चलते सदमे में है और आरोपी घटना के बाद खुलेआम घूम रहे हैं।
पीड़िता की मां ने कहा, ‘सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करती है लेकिन हमारी लड़कियों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए क्या यह कीमत चुकानी पड़ेगी? आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं लेकिन पुलिस उन्हें पकड़ने में नाकाम रही है।’
उन्होंने अपनी बेटी के साथ हुई घटना का ब्योरा देते हुए कहा कि उनकी बेटी का बुधवार को दोपहर बाद उस समय अपहरण कर लिया गया जब वह कोचिंग के लिए गई थी।
‘हम न्याय चाहते हैं’
उन्होंने आगे बताया कि अपहरण के बाद एक ट्यूबवेल के पास एक सुनसान जगह पर उससे बलात्कार किया गया। पीड़िता की मां ने कहा, ‘पुलिस कोई भी कार्यवाही करने में विफल रही है। हमें शिकायत दर्ज कराने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा। एफआईआर रात एक बजे दर्ज की गई क्योंकि पुलिस रेवाड़ी और कनीना के चक्कर में अधिकार क्षेत्र को लेकर उलझी रही।’ उन्होंने कहा, ‘हम सब न्याय चाहते हैं।’
‘नैतिक आधार पर इस्तीफा दें सीएम खट्टर’
घटना पर विपक्ष की तीखी प्रतिक्रिया के बीच पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह चरमरा गई है। उन्होंने कहा कि बेटियों की रक्षा में विफल रहने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। हुड्डा ने कहा कि राज्य में जब कांग्रेस की सरकार थी तो अपराधी हरियाणा छोड़कर भाग गए थे लेकिन बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से अपराध का ग्राफ अत्यंत बढ़ गया है।
महिला आयोग ने पीड़िता से की मुलाकात
वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर पर लिखा, ‘हरियाणा की एक और बेटी से ‘सामूहिक बलात्कार’। एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक खट्टर सरकार शासित राज्य में बर्बर सामूहिक बलात्कार की घटनाएं सर्वाधिक हैं।’ उन्होंने कहा बीजेपी से अपनी बेटी बचाओ का नारा अब बीजेपी शासित हरियाणा में ही सही साबित हो रहा है। हरियाणा राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष प्रतिभा सुमन ने पीड़िता के घर का दौरा किया और अस्पताल में उससे मुलाकात की।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »