हरियाणा: कृषि विधेयक के विरोध में किसानों का प्रदर्शन जारी, हाइवे जाम

चंडीगढ़। कृषि विधेयक के विरोध में हरियाणा में किसानों का प्रदर्शन जारी है। बड़ी संख्या में किसानों ने राज्य के प्रमुख हाइवे को जाम कर दिया है। कुरुक्षेत्र कैथल हाइवे भी प्रदर्शन के चलते जाम है। वहीं यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भी किसानों के साथ ट्रैक्टर मार्च शुरू कर दिया है। कुरुक्षेत्र के पिपली में भारी पुलिस बल तैनात हैं और कड़ी चौकसी रखी जा रही है। किसानों के प्रदर्शन के चलते हरियाणा में जगह-जगह जाम लगा हुआ है।
दिल्ली की ओर से करनाल पार करके कुरुक्षेत्र पहुंचे ट्रैफिक को पिपली चौक से लाडवा की ओर डायवर्ट किया गया है। किसानों ने अंबाला के धूलकोट में जीटी रोड जाम कर दिया गया है।
प्रदर्शन के चलते कौन-कौन से मार्ग बंद है और कहां-कहां है जाम
फतेहाबाद+सिरसा, नेशनल हाइवे बंद
अम्बाला चंडीगढ़ हाइवे बंद
बरवाला में पंचकूला यमुनानगर हाइवे बंद
यहां लगा है जाम
जींद बरोदा में जाम
जींद दिल्ली हाईवे जाम
गोहाना में रोहतक पानीपत हाइवे जाम
पंचकूला में जाम
नारनौंद में जींद भिवानी रोड जाम
पानीपत असंध रोड जाम
जींद पाटियाला रोड जाम
दादरी कनीना रोड जाम
सिरसा में सड़क जाम कर किसानों का प्रदर्शन
सिरसा में सड़क जाम करते हुए प्रदर्शनकारियों ने कहा, ‘सरकार को निजी खरीदारों के न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे कृषि उपज खरीदने को दंडनीय बनाने के लिए कानून लाना चाहिए था। इससे हमारी बिक्री की गारंटी होती।’
इन रास्तों पर जाने से बचें, मिल सकता है जाम
हरियाणा बीकेयू प्रमुख के अनुसार यमुनानगर टोल प्लाजा, कुरुक्षेत्र-यमुनानगर रोड, कुरुक्षेत्र- पिहोवा रोड, कुरुक्षेत्र-किरमच रोड, अंबाला-हिसार रोड और शाहबाद-पंचकुला रोड पर ट्रैफिक रोकने की योजना बनाई गई है।
बता दें कि सरकार के कृषि विधेयकों के खिलाफ पंजाब समेत कई राज्यों में व्यापक विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। पंजाब में किसानों ने 24 सितंबर से 26 सितंबर के बीच रेल रोको अभियान शुरू करने की योजना बनाई है।
बीकेयू ने 3 घंटे तक जाम का ऐलान किया था
किसान संगठन भारतीय किसान यूनियन (BKU) की हरियाणा इकाई ने ऐलान किया था कि वह राज्य के सभी प्रमुख हाइवे को रविवार को दोपहर 12 से 3 बजे तक 3 घंटों तक के लिए जाम कर देंगे। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने अपील की थी कि किसान नेशनल हाइवे को ब्लॉक न करें। साथ ही उन्होंने कहा है कि हाइवे जाम होने की वजह से बीमार लोगों को अस्पताल पहुंचे में काफी परेशानी हो सकती है। ऐसे में हाई-वे जाम करने का फैसला पूरी तरह अनुचित है।
राज्यसभा में भी पास हुआ कृषि विधेयक
उधर लोकसभा के बाद कृषि बिल राज्यसभा में भी पास हो गया है। केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किसान बिल को राज्यसभा में पेश किया था। उच्च सदन में किसान बिल को लेकर तीखी बहस हुई थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *