हरियाणा भाजपा के मनीष ग्रोवर व अन्‍य नेताओं को किसानों ने बनाया बंधक

रोहतक। हरियाणा भाजपा के उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर को आज शुक्रवार सुबह दस बजे के करीब उस समय मंद‍िर में क‍िसानों द्वारा बंधक बना ल‍िया गया जब वो प्रधानमंत्री का केदारनाथ कार्यक्रम के लाइव प्रसारण को देखने मंद‍िर पहुंचे थे। गौरतलब है कि‍ किसान आंदोलन के दौरान भाजपा नेताओं का गांव में प्रवेश बंद किया हुआ है। क‍िसानों की ज‍िद है क‍ि आंदोलन का समाधान नहीं निकलेगा तब तक वो नेताओं का विरोध जारी रखेंगे।

हरियाणा के रोहतक जिले के गांव किलोई में पूजा करने पहुंचे। दरअसल, उत्तराखंड में धार्मिक स्थल केदारनाथ धाम में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूजा दर्शन समेत करीब 400 करोड़ रुपये के शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किलोई के प्राचीन शिव मंदिर में हो रहा था। गांव में किसानों को जैसे ही पता चला कि भाजपा नेता मंदिर में आए हैं तो किसान मंदिर के बाहर विरोध करने के लिए पहुंच गए। मंदिर प्रांगण में लगी टीवी स्क्रीन के तार तोड़ दिये गए।

किसानों व प्रशासन की बातचीत के बाद भाजपा नेताओं ने किसानों से माफी मांग ली और कहा कि अगर वह नहीं चाहते हैं तो वो मंदिर नहीं आएंगे। लेकिन इसके बाद इस बात पर पेंच फंस गया कि प्रदेश उपाध्यक्ष ने हाथ जोड़कर माफी नहीं मांगी। अब फिलहाल दो बजे के करीब मौके पर डीसी पहुंच गए हैं और मीटिंग चल रही है। किसान इस बात पर अड़े हैं कि उनसे हाथ जोड़कर माफी नहीं मांगी गई।

बंधक बनाए गए भाजपा नेताओं में पार्टी के प्रदेश संगठन प्रभारी रविंदर राजू व पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर सहित स्थानीय नेता शामिल हैं। मंदिर के बाहर भारी संख्या में ग्रामीण व किसान एकत्रित हो गए हैं। भाजपा नेताओं को मंदिर से निकालने के लिए भारी संख्या में पुलिस बुलाई गई है। किसानों व पुलिस के बीच बातचीत जारी है। किसान अपनी मांग पर अड़े हुए हैं।

पुलिस ने मंदिर के चारों ओर सुरक्षा घेरा बना लिया है। वहीं दूसरी ओर किसानों ने मंदिर की तरफ आने वाले सभी रास्तों को ट्रैक्टर ट्राली अड़ा कर बंद कर दिया। किसानों ने भाजपा नेताओं के वाहनों की हवा भी निकाल दी व अन्य गांवों से भी बड़ी संख्या में टैक्टर ट्रॉली भरकर किसान पहुंचना शुरू हो गए हैं। पहले गांव के किसान विरोध कर रहे थे, इसी दौरान मकड़ौली धरने से भी किसान पहुंच गए। अब धीरे-धीरे दूसरे गांवों के लोग भी वहां पहुंचना शुरू हो गए हैं। किसानों की मांग है कि पूर्व मंत्री ग्रोवर आधे घंटे के अंदर माफी मांगे और कहे कि जब तक आंदोलन जारी है गांव में नहीं घुसेंगे।

-एजेंसी

 

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *