मैडम तुसाद म्यूजियम: राजपरिवार से अलग किए हैरी-मेगन

ब्रिटेन के राजकुमार हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल ने राजपरिवार की ओर से मिली वरिष्ठता छोड़ने का ऐलान किया है। इसके बाद पूरी दुनिया में उनके इस फैसले की चर्चा शुरू हो गई। दुनियाभर में अहम लोगों के मोम के पुतले रखने वाले मैडम तुसाद म्यूजियम ने प्रिंस हैरी और मेगन के स्टैच्यू को शाही परिवार से अलग कर दिया है।
इससे पहले दोनों के पुतले क्वीन एलिजाबेथ, प्रिंस फिलिप, प्रिंस चार्ल्स, प्रिंस विलियम और उनकी पत्नी केट के साथ अलग केबिन में रखे जाते थे।
प्रिंस हैरी महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पोते हैं। ब्रिटिश राज सिंहासन के लिए वे अपने पिता प्रिंस चार्ल्स, भाई प्रिंस विलियम और उनके तीन बच्चों के बाद छठे नंबर के दावेदार हैं।
हैरी और मेगन ने गुरुवार को अपनी वेबसाइट और इंस्टाग्राम पर कहा कि वे शाही परिवार के ‘वरिष्ठ’ सदस्य के पद से अलग हो रहे हैं और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने के लिए योजना बना रहे हैं। प्रिंस हैरी और मेगन की शादी मई 2018 में हुई थी। तब इनकी शादी में जनता के 3.2 करोड़ पाउंड करीब (297 करोड़ रुपए) खर्च हुए थे। इसके अलावा हाल ही में दोनों ने विंडसर पैलेस स्थित अपने घर के रेनोवेशन में ही 24 लाख पाउंड (करीब 22 करोड़ रु.) लगा दिए थे।
तुसाद म्यूजियम में 250 से ज्यादा सेलिब्रिटीज के स्टैच्यू मौजूद
मैडम तुसाद म्यूजियम में इस वक्त दुनियाभर के सेलिब्रिटीज के 250 से भी ज्यादा मोम के पुतले मौजूद हैं। तुसाद म्यूजियम के मैनेजर के स्टीव डेविस के मुताबिक, “पूरी दुनिया की तरह हम भी हैरी और मेगन के इस आश्चर्यचकित करने वाले फैसले पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं। वे दोनों काफी लोकप्रिय हैं। ऐसे में उन्हें म्यूजियम से बाहर नहीं किया जाएगा। वे यहीं रहेंगे। हालांकि, यह देखना होगा कि आगे क्या होता है।
हैरी-मेगन के फैसले से शाही परिवार नाराज
रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रिंस हैरी और मेगन ने इस बारे में शाही परिवार के किसी सदस्य से चर्चा नहीं की। उनके इस फैसले पर महारानी की तरफ से नाराजगी जाहिर करने की भी खबरें हैं। वहीं, प्रिस हैरी के भाई प्रिंस विलियम भी इस फैसले से नाराज बताए गए हैं।
यूके और उत्तरी अमेरिका में बड़ा होगा बेटा
हैरी और मेगन ने इंस्टाग्राम पर लिखा कि कई महीनों तक विचार करने और आपसी बातचीत के बाद हमने यह फैसला किया। उन्होंने लिखा, “यह फैसला शाही परिवार में नई परंपरा की शुरुआत होगी। हम अपना आगे का समय महारानी की सेवा में रहते हुए यूके और उत्तरी अमेरिका में बिताएंगे। हमें अपने शाही परिवार की परंपराओं की कद्र करते हुए बेटे को बड़ा करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा हमें अपने परिवार के अगले अध्याय और नए चैरिटी शुरू करने के बारे में सोचने का मौका मिलेगा।”
सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ ‘मेग्जिट’
प्रिंस हैरी और मेगन के इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर रॉयल फैमिली के इस कदम के चर्चे शुरू हो गए। लोगों ने इसे ब्रेग्जिट की ही तर्ज पर मेग्जिट नाम दे दिया। ट्विटर पर कई लोगों ने इस फैसले का स्वागत किया। वहीं कुछ लोगों ने उनका मजाक भी बनाया। एक यूजर ने लिखा, “रॉयल फैमिली ऐसे बर्ताव कर रही है, जैसे दोनों ने मैसेज कर के उनसे ब्रेकअप कर लिया।” वहीं एक और यूजर ने लिखा, “यह न्यूज रॉयल परिवार पर बम गिराने जैसी थी।”
मई में दिया था बेटे को जन्म
मई 2018 में प्रिंस हैरी और मेगन मर्केल की शादी हुई थी। ब्रिटेन की महारानी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय ने ब्रिटेन के शाही शादी की परंपरा के हिस्से के तौर पर अपने पोते प्रिंस हैरी और उनकी दुल्हन मेगन मर्केल को ससेक्स के ड्यूक और डचेस का खिताब दिया। प्रिंस हैरी की पत्नी मेगन मार्केल ने 5 मई में बेटे को जन्म दिया था। इस बच्चे का नाम आर्ची रखा था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *