हरदीप सिंह पुरी ने ने यूपी से राज्‍यसभा के लिए नामांकन दाखिल किया

लखनऊ। मोदी सरकार में आवास एवं शहरी विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को लखनऊ के बीजेपी कार्यालय में यूपी से राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल किया।
दिलचस्प बात यह है कि हरदीप सिंह के साथ आम आदमी पार्टी (आप) के निलंबित सांसद हरिंदर सिंह खालसा भी मौजूद थे।
यूपी में राज्यसभा की यह सीट मनोहर पर्रिकर के रक्षामंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद 2 सितंबर को खाली हुई थी। इस सीट का वर्तमान कार्यकाल 25 नवंबर 2020 तक है। यानी हरदीप सिंह पुरी को बतौर राज्यसभा सदस्य दो साल से भी कम का कार्यकाल मिलेगा।
हरदीप की योगी ने की तारीफ
इस मौके पर हरदीप सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश का देश की संस्कृति और विकास में बड़ा योगदान है। इसका प्रतिनिधित्व करना राजनीतिक जीवन के लिए सबसे गौरव का पल है। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में सर्वाधिक निकाय है। पुरी जी का प्रदेश का प्रतिनिधित्व करना यहां के विकास के लिए अहम होगा।
हरदीप सिंह के नामांकन के समय यूपी बीजेपी के अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा व केशव प्रसाद मौर्य सहित प्रदेश सरकार के मंत्री और संगठन के कई पदाधिकारी मौजूद थे।
गौरतलब है कि सितंबर के पहले सप्ताह में हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में हरदीप सिंह पुरी मंत्री बनाए गए थे। उस वक्त वह किसी भी सदन के सदस्य नहीं थे। नियमानुसार 6 महीने के भीतर संसद के किसी भी सदन का सदस्य होना जरूरी है।
16 जनवरी को मतदान और मतगणना
साल 1974 बैच के आईएफएस अधिकारी रहे पुरी संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि के रुप में सेवाएं दे चुके हैं। उत्तर प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के 312 विधायकों की मौजूदगी को देखते हुए पुरी का इस राज्यसभा सीट पर निर्वाचन तय माना जा रहा है। निर्वाचन आयोग ने पिछले शुक्रवार को राज्यसभा उपचुनाव की घोषणा की थी। इसके लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख पांच जनवरी है। उसके अगले दिन नामांकन पत्रों की जांच होगी, जबकि आठ जनवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। मतदान और मतगणना 16 जनवरी को होगी।
-एजेंसी