मेहनत करना अपने हाथ में है लेकिन रिजल्‍ट नहीं: श्रद्धा कपूर

नई दिल्‍ली। ‘ए फ्लाइंग जट’, ‘रॉक ऑन 2’, ‘ओके जानू’, ‘हॉफ गर्लफ्रेंड’ और ‘हसीना पारकर’ जैसी लगातार फ्लॉप फिल्मों के बाद श्रद्धा कपूर तैयार हैं फिल्म ‘स्त्री’ के साथ। असफल फिल्मों के इमेज में उलझी श्रद्धा ने एक वेबसाइट से बातचीत में कहा कि वह लगातार असफल फिल्मों से थोड़ी परेशान जरूर हैं लेकिन फ्लॉप फिल्मों के इमेज से बाहर निकलने के लिए वह कोई प्लान नहीं बना रहीं। श्रद्धा की मानें तो अपने काम में 100% मेहनत करना उनके अपने हाथ में हैं, वह रिजल्ट की चिंता नहीं करती हैं।
आपकी फिल्म ‘स्त्री’ भूत-प्रेत की घटनाओं पर बेस्ड है, असल जिंदगी में कभी भूतों से सामना हुआ है?
जब हमारी फिल्म स्त्री की शूटिंग हो रही थी तब एक लाइट मैन फिल्म के सेट पर बेहद ऊंचाई में कहीं काम कर रहे थे और वह अचानक नीचे गिरकर घायल हो गए, फिलहाल वह ठीक हैं लेकिन गिरने की वजह पूछने पर उन्होंने बताया कि अचानक उन्हें किसी ने ऊपर से धक्का दे दिया था और खुद को संभाल नहीं पाए। अब मुझे नहीं पता कि दुनिया में क्या-क्या चीजें होती हैं, लेकिन जब यह सब बातें सुनती हूं तो लगता है कि भूत-प्रेत की बातें होती हैं।
कितने किस्से सुनते हैं इसलिए भूत के होने का एहसास होता है
मुझे लगता भूत-प्रेत का होना पॉसिबल जरूर है लेकिन मैं 100 प्रतिशत ऐसा नहीं कहती कि भूत-प्रेत होते हैं। कहने का मतलब है मैं पूरे विश्वास के साथ न यह कह सकती हूं कि भूत होते हैं और न ही यह कह सकती हूं कि भूत नहीं होते हैं। कितने किस्से सुनते हैं इसलिए भूत के होने का एहसास होता है।’
राजकुमार राव और पंकज जी के साथ काम करते हुए नर्वस थी
राजकुमार राव और पंकज त्रिपाठी के साथ काम करना कोई सपना सच होने जैसा है। मैं इस फिल्म का हिस्सा होने के लिए फिल्म की पूरी टीम का धन्यवाद करती हूं। शूटिंग के दौरान पंकज जी के सामने मैं थोड़ी नर्वस हो गई थी। राज और पंकज जी की वजह से मैंने फर्स्ट टेक में शॉट देने का प्रेशर खुद में डाल लिया था। दोनों बेहतरीन ऐक्टर के साथ काम करने को लेकर जहां मैं बहुत उत्साहित थी, वहीं नर्वस भी बराबर थी। जब दोनों शॉट देते तो उनसे नजर हटाने का मन ही नहीं करता था, लगता था लगातार देखते ही रहो। मैं दोनों की बहुत बड़ी फैन हूं। खुद को भाग्यशाली मानती हूं कि राज और पंकज जी के साथ काम करने का मौका मिला।’
सफलता और असफलता को दिल में नहीं लेना चाहिए, सर झुका कर सिर्फ काम करना चाहिए
मुझे नहीं पता कि फिल्म स्त्री से मेरी फ्लॉप फिल्मों की जो इमेज बन गई है वह ठीक हो जाएगी। मैं उम्मीद जरूर करती हूं कि लोग मेरी यह फिल्म देखें और और मेरी इमेज ठीक हो जाए। मेरा फोकस यही है कि सफलता और असफलता को दिल में नहीं लेना चाहिए, सर नीचे करके सिर्फ काम और काम करना चाहिए। अपने काम में हमको 100% मेहनत करनी चाहिए, अब रिजल्ट अपने हाथ में तो होता नहीं। मैं तो खुद को भाग्यशाली मानती हूं कि मुझे फिल्मों में काम करने का और इंडस्ट्री का हिस्सा होने का मौका मिला है।’
मुझे कहा गया है कि कहानी सुनने के बाद तुरंत फिल्म करने के लिए हां नहीं कहना है
जब मैं पहली बार फिल्म स्त्री की कहानी-नरेशन सुन रही तब अपनी हंसी नहीं रोक पा रही थी, मैं अपना पेट पकड़ कर हंस रही थी, हंसते-हंसते मेरे आंखों से आंसू भी बहने लगे थे। मेरा मन कर रहा था कि मैं फिल्म करने के लिए तुरंत हां कर दूं लेकिन पिछले दिनों मुझे किसी ने कहा है कि कोई भी कहानी सुनने के बाद इतना उत्साहित होने की जरूरत नहीं है और तुरंत फिल्म करने के लिए हां भी नहीं कहना है। मुझे तुरंत इस फिल्म के लिए हां कहना था। मैंने बड़ी मुश्किल से खुद को कुछ घंटे कंट्रोल किया और रात को फोन करके डायरेक्टर को बताया मुझे स्त्री में काम करना है।’
श्रद्धा कपूर की फिल्म ‘स्त्री’ 31 अगस्त को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज़ होगी फिल्म में श्रद्धा कपूर के अलावा राजकुमार राव और पंकज त्रिपाठी मुख्य भूमिका में नजर आएंगे। फिल्म का निर्देशन किया है नए निर्देशक अमर कौशिक ने। इसे संगीत से सजाया है सचिन-जिगर की जोड़ी ने।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »