फिल्लौरी में ”हनुमान चालीसा” को म्‍यूट किया सेंसर बोर्ड ने

"Hanuman Chalisa" muted in 'phillauri' by the censor board
फिल्लौरी में ”हनुमान चालीसा” को म्‍यूट किया सेंसर बोर्ड ने

भूतनी बनी अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘फिल्लौरी’ पर केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड (CBFC) के कैंची चलाने की ख़बर है.
कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘फिल्लौरी’ फिल्म के एक सीन में हनुमान चालीसा पढ़े जाने के सीन को म्यूट किया गया है.
बताया जा रहा है कि फ़िल्म के एक सीन में सूरज शर्मा भूतनी बनी अनुष्का से बचने के लिए हनुमान चालीसा पढ़ते हैं लेकिन अनुष्का फिल्म के उस सीन में भागती नहीं दिखती हैं.
आस्तिकों का मानना है कि हनुमान चालीसा पढ़ने से भूत भाग जाते हैं. ऐसे में इस सीन को हटाए जाने की वजह इस मान्यता को चुनौती देने के तौर पर भी देखा जा रहा है.
हालांकि ‘फिल्लौरी’ फिल्म की स्टारकास्ट और सेंसर बोर्ड की तरफ़ से इस बारे में कुछ पुख्ता जानकारी नहीं मिली है लेकिन फिल्म में हनुमान चालीसा को म्यूट किए जाने की चर्चा सोशल मीडिया पर हो रही है.
करुणा त्यागी ने ट्वीट किया, ”हनुमान चालीसा, हिंदुओं के भगवान और मान्यताओं का फिल्मों और सीरियल्स में खूब इस्तेमाल होता है, जहां एक्टर्स का उनके बारे में जो बकवास करने का मन करता है, वो करते हैं.”
हितेश सिंह फेसबुक पर लिखते हैं, ”फिल्म ‘फिल्लौरी’ से हनुमान चालीसा हटाने का निर्देश. सेंसर बोर्ड का कहना है कि हनुमान चालीसा का पाठ ‘अंधविश्वास के दायरे में आता है. यही काम कांग्रेस राज में होता तो उबाल आ चुका होता.”
@Bees_Kut ने इस विवाद को अनुष्का की बॉक्स ऑफ़िस पर कम चली फिल्म ‘बॉम्बे वेलवेट’ से जोड़कर तंज किया. वो लिखते हैं, ”हनुमान चालीसा चलाए जाने पर अनुष्का नहीं गईं लेकिन जैसे ही बॉम्बे वेलवेट चली, वो बाय कहकर चली गईं.”
सलील त्रिपाठी ने ट्वीट किया, ”हनुमान चालीसा को मैंने भी पढ़ा, लेकिन पहलाज निहलानी अब भी सेंसर बोर्ड की कुर्सी पर हैं.”
@Caped_Humor ने लिखा, CBFC ने ‘फिल्लौरी’ फिल्म में हनुमान चालीसा म्यूट करने के लिए कहा है. क्या प्लीज कोई हनुमान चालीसा पढ़ेगा ताकि सेंसर बोर्ड में जो बेवकूफी का भूत है वो बाहर किया जा सके.
@SirJadeja हैंडल से ट्वीट किया गया, ”फिल्लौरी फिल्म के सीन में भूत के न भागने की वजह से हनुमान चालीसा को म्यूट कर दिया गया है. अब वक्त आ गया है कि CBFC को म्यूट कर दिया जाए.”
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *