हलीमा याकूब बनी Singapore की पहली महिला राष्ट्रपति

सिंगापुर। Singapore के संसद की पूर्व अध्यक्ष हलीमा याकूब आज Singapore की पहली महिला राष्ट्रपति बन गयीं।
निर्वाचन अधिकारी की ओर से उनके इकलौते योग्य उम्मीदवार होने की घोषणा के बाद उन्हें राष्ट्रपति चुन लिया गया।
सिंगापुर में इस बार राष्ट्रपति का पद अल्पसंख्यक मलय समुदाय के उम्मीदवार के लिए आरक्षित था।

संसद के अध्यक्ष के तौर पर अपने अनुभव के कारण भारतीय मूल की  याकूब अपने आप राष्ट्रपति पद के नामांकन के नियमों के तहत योग्य साबित हो गईं।
राष्ट्रपति चुने जाने के बाद याकूब ने कहा कि यह हालांकि एक आरक्षित चुनाव था, लेकिन मैं आरक्षित राष्ट्रपति नहीं हूं। मैं हर किसी की राष्ट्रपति हूं। उनसे पहले देश के आखिरी मलय राष्ट्रपति युसूफ ईशाक थे जिनकी तस्वीर देश के नोटों पर है। वह 1965 से 1970 के दौरान राष्ट्रपति रहे।
निर्वाचन विभाग ने इस सप्ताह की शुरुआत में बताया था कि राष्ट्रपति पद के लिए जिन अन्य चार लोगों ने आवेदन दिया था उनमें से दो मलय नहीं थे और दो ने योग्यता प्रमाण पत्र जमा नहीं कराया था।

सिंगापुर संसद की पूर्व स्पीकर ‘हलीमा याकूब’ सिंगापुर की पहली महिला राष्ट्रपति बन गई हैं। बुधवार को निर्वाचन अधिकारी की ओर से उनके इकलौते योग्य उम्मीदवार होने की घोषमा के बाद उन्हें राष्ट्रपति चुन लिया गया है।

बता दें, बहुसांसकृतिक देश में विशिष्टता को मजबूत करने के लिए Singapore की संवैधानिक व्यवस्था के अनुसार इस बार राष्ट्रपति मलय मूल के समुदाय से चुना जाता था। इस अल्पसंख्यक समुदाय के उम्मीदवारों के लिए राष्ट्रपति पद आरक्षित था।

इकलौती उम्मीदवार होने के नाते उन्हें Singapore का  राष्ट्रपति चुन लिया गया है।

-एजेंसी