गुजरात: परीक्षा में फेल 100 से अधिक छात्रों को दे दी मेडिकल की डिग्री

Gujarat: medical degree gave to Fail in the examination more than 100 students
गुजरात: परीक्षा में फेल 100 से अधिक छात्रों को दे दी मेडिकल की डिग्री

अहमदाबाद। गुजरात यूनिवर्सिटी और मेडिल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) द्वारा फाइल एक आरटीआई से गुजरात के मेडिकल कॉलेजों में मध्य प्रदेश के व्यापम जैसा घोटाला होने का संकेत मिला है।
आरटीआई से पता चला है कि गुजरात के मेडिकल कॉलेजों ने 100 से ज्यादा ऐसे छात्रों को मेडिकल की डिग्री दी है जो कि परीक्षा में फेल हुए हैं। इस संबंध में मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री कार्यालय को भी एक शिकायत भेजी गई है।
गुजरात यूनिवर्सिटी से संबद्ध पीजी कॉलेजों में दाखिले के लिए जनवरी 2015 में एंट्रेंस टेस्ट हुआ था। बीजे मेडिकल कॉलेज और एनएचएल मेडिकल कॉलेज की 300 सीटों के लिए 900 छात्रों ने परीक्षा दी थी। इस परीक्षा को केवल 200 छात्र ही पास कर पाए थे इसीलिए 100 सीटें खाली रह गईं। आरटीआई में खुलासा हुआ है कि स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर्स और अधिकारियों ने अपने परिचितों के बच्चों को ऐडमिशन देने के लिए नियमों का उल्लंघन किया।
एमसीआई के दिशा-निर्देशों के मुताबिक परीक्षा में अनुपस्थित रहे और फेल हुए छात्र पीजी मेडिकल एग्जाम में दाखिला नहीं पा सकते। नियमों की अनदेखी करते हुए स्टार किड्स को ऐडमिशन देने के लिए एमसीआई को झूठी मार्क शीटें भेजी गईं। आरटीआई में सामने आया है कि कुछ छात्र तो परीक्षा में भी शामिल नहीं हुए और रिकॉर्ड में उन्होंने परीक्षा में पास दिखाया गया है। कुछ मामलों में तो एमसीआई को गुमराह करने के लिए झूठे जाति सर्टिफिकेट भी लगाए गए।
आरटीआई में कहा गया है कि इस तरह से जिस किसी को भी दाखिला मिला है वे प्रतिष्ठित डॉक्टरों और सरकारी अधिकारियों के परिवार से आते हैं।
आरटीआई से मिली जानकारी के मुताबिक एक छात्र ने एंट्रेंस एग्जाम में 41 फीसदी नंबर हासिल किए थे लेकिन एमसीआई के रिकॉर्ड में 53 फीसदी नंबर दर्ज थे। इस तरह के कई मामले हैं जहां एमसीआई में दर्ज नंबर छात्र के वास्तविक नंबरों से अधिक हैं।
गुजरात के हेल्थ कमिश्नर जेपी गुप्ता ने कहा, ‘स्टेट कमिश्नर को एक सप्ताह पहले शिकायत मिली है। हमें यूनिवर्सिटी से पुराने रिकॉर्ड जांचने होंगे। हमें शिकायतों और रिकॉर्ड दोंनों की जांच करेंगे और तब फैसला करेंगे कि क्या कार्यवाही की जाएगी।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *