राजीव एकेडमी में कैम्पस लीडरशिप पर गेस्ट लेक्चर

मथुरा। राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट में कैम्पस लीडर शिप पर एक आनलाइन गेस्ट लेक्चर का आयोजन MBA विभाग के तत्वावधान में किया गया। वक्ता एमिटी विश्वविद्यालय लखनऊ के ट्रेनिंग टीम के हेड असिस्टेंट प्रो. एस.एम. कानिन आबिदी ने एमबीए तृतीय सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं को मैनेजमेंट में लीडरशिप कोशियन यानि नेतृत्व सामंजस्य के महत्व पर विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि लक्ष्य प्राप्ति में मन, मस्तिष्क, शरीर, हृदय और व्यक्ति का आध्यात्मिक पक्ष बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

श्री आबिदी ने कैम्पस लीडरशिप कोशिएण्ट टापिक पर विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन करते हुए कहा कि मैनेजमेंट कोर्स के विद्यार्थियों के लिए लीडरशिप बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति की फिजिकल इंटेलीजेंस, मेंटल इटेलीजेंस, इमोशनल इंटेलीजेंस और स्प्रिचुअल इंटेलीजेंस को मिलाकर ही सफल लीडरशिप उत्पन्न होती है। दूसरे शब्दों में कहें तो शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक, आध्यात्मिक बुद्धिमत्ता मिलकर ही लीडरशिप को जन्म देते हैं।

श्री आबिदी ने कहा कि सफल लीडरशिप के पहले ऐसे कई पहलू हैं जिन पर गौर करने से हमें बहुत लाभ होता है। सर्वप्रथम शारीरिक बुद्धिमत्ता से हम स्वयं का स्थान निर्धारित करते हैं। मानसिक बुद्धिमत्ता हमें औरों से भिन्न बनाती है और भावनात्मक बुद्धिमत्ता हमें ईश्वरीय शक्ति का प्रतिपल आभास कराती रहती है जिससे हम किसी भी परेशानी के समय उस सर्वशक्तिमान ईश्वर का सहारा महसूस करके स्वयं के लिए एक अलग मार्ग तय करते हैं तथा जीवन में आगे बढ़ते हैं। आबिदी ने छात्र-छात्राओं द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर भी दिए गए।

संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने वक्ता प्रो. एस.एम. कानिन आबिदी का आभार मानते हुए छात्र-छात्राओं का आह्वान किया कि उन्होंने कैम्पस लीडरशिप के विषय में जो जानकारी हासिल की है, उस पर पूर्ण मनोयोग से विचार मंथन भी करें।
मथुरा। बुधवार को राजीव एकेडमी फार टेक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट के एमबीए विभाग के तत्वावधान में कैम्पस लीडरशिप पर आनलाइन गेस्ट लेक्चर का आयोजन किया गया। वक्ता एमिटी विश्वविद्यालय लखनऊ के ट्रेनिंग टीम के हेड असिस्टेंट प्रो. एस.एम. कानिन आबिदी ने एमबीए तृतीय सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं को मैनेजमेंट में लीडरशिप कोशियन यानि नेतृत्व सामंजस्य के महत्व पर विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि लक्ष्य प्राप्ति में मन, मस्तिष्क, शरीर, हृदय और व्यक्ति का आध्यात्मिक पक्ष बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

श्री आबिदी ने कैम्पस लीडरशिप कोशिएण्ट टापिक पर विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन करते हुए कहा कि मैनेजमेंट कोर्स के विद्यार्थियों के लिए लीडरशिप बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति की फिजिकल इंटेलीजेंस, मेंटल इटेलीजेंस, इमोशनल इंटेलीजेंस और स्प्रिचुअल इंटेलीजेंस को मिलाकर ही सफल लीडरशिप उत्पन्न होती है। दूसरे शब्दों में कहें तो शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक, आध्यात्मिक बुद्धिमत्ता मिलकर ही लीडरशिप को जन्म देते हैं।

श्री आबिदी ने कहा कि सफल लीडरशिप के पहले ऐसे कई पहलू हैं जिन पर गौर करने से हमें बहुत लाभ होता है। सर्वप्रथम शारीरिक बुद्धिमत्ता से हम स्वयं का स्थान निर्धारित करते हैं। मानसिक बुद्धिमत्ता हमें औरों से भिन्न बनाती है और भावनात्मक बुद्धिमत्ता हमें ईश्वरीय शक्ति का प्रतिपल आभास कराती रहती है जिससे हम किसी भी परेशानी के समय उस सर्वशक्तिमान ईश्वर का सहारा महसूस करके स्वयं के लिए एक अलग मार्ग तय करते हैं तथा जीवन में आगे बढ़ते हैं। आबिदी ने छात्र-छात्राओं द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर भी दिए गए।

संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने वक्ता प्रो. एस.एम. कानिन आबिदी का आभार मानते हुए छात्र-छात्राओं का आह्वान किया कि उन्होंने कैम्पस लीडरशिप के विषय में जो जानकारी हासिल की है, उस पर पूर्ण मनोयोग से विचार मंथन भी करें।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *