राजीव एकेडमी में Analysis Modeling पर हुआ गेस्ट लैक्चर

आई.टी क्षेत्र के विशेषज्ञ राजीव कुलश्रेष्ठ बोले-ग्राहक को साफ्टवेयर बेचते समय Analysis Modeling के जरिए साफ्टवेयर के बारे में दी जाती है सारी जानकारी

मथुरा। राजीव एकेडमी फॉर टैक्नोलॉजी एण्ड मैंनेजमेंट के बीसीए विभाग में आयोजित गेस्ट लैक्चर में आई.टी क्षेत्र के विशेषज्ञ राजीव कुलश्रेष्ठ ने Analysis Modeling पर लैक्चर दिया। बीसीए द्वितीय वर्ष के छात्र-छात्राओं से कहा कि जब कोई ग्राहक कोई वस्तु खरीदता है तो वह उस वस्तु की गुणवत्ता की जांच परख करता है। ठीक उसी प्रकार जब कोई ग्राहक किसी साफ्टवेयर को खरीदता है तो एनालिसिस मॉडलिंग के जरिए उसे अमुक साफ्टवेयर के बारे में सारी जानकारी कम्पनी द्वारा प्रदान की जाती है। उन्होंने कम्प्यूटर मॉडल क्या है? डाटा मॉडलिंग कैसे की जाय व स्टेट ट्रांजिक्शन डायग्राम कैसे बनता है। साथ ही कम्प्यूटर डाटा कैसे स्टोर किए जाएं आदि के बारे में विस्तार से छात्र-छात्राओं को समझाया।

गेस्ट लैक्चर राजीव कुलश्रेष्ठ ने कहा कि आईटी के इस युग में कम्प्यूटर का बड़ा योगदान है, वहीं इण्टरनेट के साथ नई पीढ़ी दौड़ती धरती से भी आगे निकलती जा रही है। विश्व बाजार की गति मति और लय में आते उतार-चढ़ाव प्रतिदिन आई.टी. की अपडेट्स के परिणाम हैं। कम्प्यूटर तकनीकी और अधिक तेजी और गुणवत्ता के साथ अधिक से अधिक जानकारी फीडकर आई.टी. की दौड़ सुपर दौड़ बनने जा रही है।

श्रीकुलश्रेष्ठ ने फंक्शनल मॉडलिंग, ट्रांसफर तकनीकी और बैलेंसिंग डीएफडी के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने छात्र-छात्राओं को एओएन तथा एओऑफ हाई लो के बारे में बताया। समझाया कि ये तीन साइन होते हैं। हाई, नार्मल तथा लो जिनके बारे में कम्प्यूटर के छात्रों को जानकारी आवश्यक होनी चाहिए। प्रोसेस आॅफ स्पेसिफिकेशन पर विस्तृत चर्चा करते हुए उन्होने डीएफडी चैक एण्ड कनवर्ट प्रेशर के बारे में बताया। उन्होंने कहा विभिन्न कम्प्यूटर प्रोग्रामों और तकनीकियों पर नियंत्रण कैसे किया जाय। इसके लिए छात्र-छात्राओं को पहले सैद्वान्तिक जानकारी होना बहुत आवश्यक है। कोई भी तकनीकी हमारे लिए तभी लाभदायक सिद्व हो सकती है। जब हमें उसके प्रयोग करने का तरीका व इसके सामान्य स्ट्रक्चर के बारे में पता हो।

छात्र-छात्राओं ने फक्शनल माॅडलिंग, नेशनल यूज, डाटा स्टोर, विहेवियरल मॉडलिंग, मैकेनिक्स ऑफ स्ट्रक्चर एनालिसिस के बारे किये में प्रश्नों के उत्तर प्राप्त कर अपनी ज्ञान-पिपासा को शांत किया। जिन्हें पर्याप्त उदाहरणों के माध्यम से श्री कुलश्रेष्ठ ने सन्तुष्टि पूर्वक समझाया। इस अवसर पर फाउण्डर जीत यादव, गौरव कुमार (टेक्नीकल हैड) ने छात्रों की जिज्ञासा की प्रशंसा की।

आरके एजुकेशनल हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि गेस्ट लेक्चर तकनीकी विषयों के लिए काफी महत्वपूर्ण है। छात्र-छात्राओं के मन में तकनीकी विषयों के अध्ययन के दौरान उठने वाले सवालों को गेस्ट लेक्चर में शांत किया जाना काफी हद तक संभव हो पाता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि राजीव एकेडमी फोर टैक्नोलाॅजी एंड मैनेजमेंट कालेज में एनालाइलिसिस माॅडलिंग जैसे गंभीर विषय पर कराया गये गेस्ट लेक्चर से छात्र-छात्रा काफी हद तक ज्ञान पिपासा को शांत कर सके होंगे।
संस्थान के निदेशक डॉ. अमर कुमार सक्सैना ने गेस्ट लेक्चर के बाद छात्रों व छात्राओं को शुभकामनाएं दी। उनसे कहा कि गेस्ट लेक्चर से मिली नई जानकारियों का उपयोग तकनीकी समस्यों के निदान में करें। Analysis Modeling पर गेस्ट लेक्चर के दौरान बीसीए के विभागाध्यक्ष समेत कई शिक्षकगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »