अनंतनाग में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, दो नागिरकों की मौत

जम्‍मू। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया। इस हमले में दो नागिरकों की मौत हो गई है। सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया है। एक दिन में आतंकियों द्वारा की गई यह दूसरी वारदात है। इससे पहले आतंकवादियों ने कश्मीर विश्वविद्यालय के बाहर ग्रेनेड हमला किया था। इसमें दो स्थानीय नागरिक घायल हुए हैं। जिनका उपचार चल रहा है।
मंगलवार सुबह कश्मीर यूनिवर्सिटी के गेट के बाहर आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया। इस हमले में दो स्थानीय नागरिक घायल हो गए हैं। सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। आतंकियों की धरपकड़ के लिए पूरे इलाके में नाकेबंदी की गई है। हालांकि पुलिस ने इस हमले को संदिग्ध बताया है। उनका कहना है कि यह ग्रेनेड हमला है या नहीं, इसकी जांच की जा रही है।
इससे पहले चार नवंबर को श्रीनगर शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके हरि सिंह स्ट्रीट में आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया था। इसमें एक गैर कश्मीरी खिलौना बेचने वाले की मौत हो गई थी जबिक 38 लोग घायल हुए थे। पुलिस ने इस घटना में घायलों की संख्या 15 बताई थी। घटना के बाद पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया गया।
बता दें कि सेना की सतर्कता, आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति व कश्मीर के बदलते हालात से आतंकी पूरी तरह से बौखलाए हुए हैं। लोगों में दहशत फैलाने के लिए आतंकवादी इस तरह की वारदात को अंजाम की नापाक कोशिशें कर रहे हैं।
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी
वहीं जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें लोगों से अपील की गई है कि वह विस्फोटक सामग्री से उत्पन्न खतरे के चलते हो रहे एनकाउंटर जोन में प्रवेश न करें। यह एडवाइजरी सोमवार को पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ के एक दिन बाद जारी की गई है। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकवादियों को ढेर किया है।
पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि नागरिकों से अनुरोध किया जाता है कि वे एनकाउंटर जोन के अंदर न जाएं क्योंकि यह क्षेत्र विस्फोटक सामग्री के कारण खतरनाक साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों से अपील की जाती है कि वह इस एडवाइजरी का पालन करते हुए पुलिस का सहयोग करें।
बता दें कि दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को देर शाम आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सेना ने एक आतंकी को ढेर कर दिया। वहीं अंधेरा होने की वजह से तलाशी अभियान रोकना पड़ा। मंगलवार सुबह फिर से शुरू हुई इसी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक और आतंकी को मार गिराया।
मारे गए दो आतंकियों में से हिजबुल का इरफान अहमद नायरा रियाज नायकू का करीबी था। वह साल 2016 से आतंकी गतिविधियों में संलिप्त था। वहीं मारा गया एक अन्य आतंकी इरफान राथर 2017 से सक्रिय था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *