बाजार में आने को तैयार हैं ग्रीन आतिशबाजी, कीमत थोड़ी अधिक

नई दिल्‍ली। ग्रीन आतिशबाजी तैयार हैं और बाजार में आने ही वाली हैं मगर महंगे और कम रोशनी के चलते आतिशबाजी बेचने वाले इन्हें लेने को अभी पूरी तरह तैयार नहीं हो पा रहे हैं। सामान्य आतिशबाजी की तुलना में इनकी कीमत कुछ ज्‍यादा भी है।
आतिशबाजी                                                                                 ग्रीन आतिशबाजी                                                      सामान्य आतिशबाजी
फुलझड़ी                                                                                       350-400 रुपये                                                          200-250 रुपये
चकरी                                                                                            500-550 रुपये                                                          200-250 रुपये
अनार                                                                                            400-450 रुपये                                                           250-300 रुपये
कई केमिकल का इस्तेमाल न होने की वजह से ग्रीन आतिशबाजी केवल सिर्फ सफेद और पीली रोशनी ही देगी। ऐसे में आतिशबाजी बेचने वालों को डर है कि इनकी डिमांड कम रहेगी।
सीएसआईआर-नीरी (नेशनल एनवायरनमेंटल इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टिट्यूट) के एक अधिकारी के अनुसार दिवाली से करीब एक हफ्ते पहले ग्रीन आतिशबाजी बाजारों में उपलब्ध होगी। ये तैयार हो चुकी हैं। इस आतिशबाजी में रोशनी भी कम होगी और आवाज भी। इन्‍हें बनाने वालों को 60 तरह की आतिशबाजी बनाने की अनुमति दी गई है।
ग्रीन आतिशबाजी खुले में नहीं बिक पाएगी। इसके पैकेट पर लोगो और बार कोड इसकी पहचान होगी। इस आतिशबाजी में बेरियम नाइट्रेट का इस्तेमाल नहीं किया गया है। इसके अलावा एल्यूमिनियम और राख भी इसमें इस्तेमाल नहीं की गई है। इससे पीएम10 और पीएम2.5 30 से 35 पर्सेंट तक कम निकलेगा। इससे सल्फर डाइॉक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड का उत्सर्जन भी 35 से 40 पर्सेंट तक कम होगा। इन केमिकल का इस्तेमाल न होने की वजह से आतिशबाजी की रोशनी और आवाज में काफी फर्क आया है। रोशनी वाली आतिशबाजी सिर्फ सफेद और पीली रोशनी ही देंगे जबकि आवाज भी सामान्य आतिशबाजी की तुलना में आधी होगी।
इस बार बाजार में ज्यादातर ग्रीन आतिशबाजी के तहत पटाखे भी सिर्फ रोशनी फैलाने वाले होंगे। इनमें फुलझड़ी, अनार, चकरी शामिल हैं। इसके अलावा इन पटाखों का पूरा पैकेट लेना होगा। ऐसा इसलिए किया गया है कि खुलने के बाद इन पटाखों की टेस्टिंग मुश्किल होगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »