सरकार ने डाक सेवकों का वेतन-भत्ता बढ़ाया, चीनी Sector को 8000 करोड़ रुपये से ज्यादा का राहत पैकेज

केंद्रीय कैबिनेट ने देश के 2 लाख 60 हजार डाक सेवकों का वेतन और भत्ता बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी

चीनी Sector के लिए 8000 करोड़ रुपये से ज्यादा के राहत पैकेज को मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने ग्रामीण डाक सेवकों का वेतन-भत्ता बढ़ाने को मंजूरी देते हुए बड़ी घोषणा की है कि केंद्रीय कैबिनेट ने देश के 2 लाख 60 हजार डाक सेवकों का वेतन और भत्ता बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। डाक सेवकों की सैलरी में 56 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी की गई है। डाक सेवकों को 1 जनवरी 2016 से एरियर प्रदान किया जाएगा।

ग्रामीण डाक सेवक अपने वेतन-भत्ते में बढ़ोतरी के लिए लंबे समय से मांग कर रहे थे। कई बार उन्होंने सेवाएं भी ठप कर दी थी।

दूसरी तरफ, सरकार ने चीनी उद्योग को भी बड़ी राहत दी है। चीनी Sector के लिए 8000 करोड़ रुपये से ज्यादा के राहत पैकेज को मंजूरी प्रदान कर दी है। इसकी संभावना पहले से ही जताई जा रही थी। वहीं सरकार ने 30 लाख टन के बफर स्टॉक को बनाने के प्रस्ताव को भी मंजूर कर लिया है। सरकार शुगर मिल को बफर स्टॉक बनाने के लिए 1175 करोड़ रुपये प्रदान करेगी।

इसके अलावा केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को इलाहाबाद के फाफामऊ में गंगा नदी पर 6 लेन के पुल निर्माण को मंजूरी दे दी है।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस वार्ता में बताया कि पुल निर्माण पर 1948 करोड़ रुपये खर्च होगा। इसके अलावा मंत्रिमंडल ने खस्ताहाल सरकारी कंपनियों को बंद करने के दिशानिर्देशों को संशोधित किया है। कंपनियों की अतिरिक्त जमीन का इस्तेेमाल गरीबों के लिए आवास योजनाओं में किया जाएगा।

चीनी Sector के लिए 8000 करोड़ रुपये से ज्यादा के राहत पैकेज को मंजूरी देने के बाद गन्‍ना किसानों के बकाया व उत्‍पादन पर सकारात्‍मक असर पड़ेेगा।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »