NEET के पैटर्न में बदलाव के सवाल पर सरकार ने दी जानकारी

नई दिल्‍ली। मेडिकल यूजी यानी MBBS और BDS कोर्सेस में एडमिशन के लिए NEET 2021 की घोषणा का लाखों स्टूडेंट्स को इंतजार है। जेईई मेन JEE Main के पहले सत्र की परीक्षा पूरी हो चुकी है लेकिन नीट NEET के शेड्यूल की अब तक घोषणा भी नहीं की गई है। अब केंद्र सरकार की ओर से नीट के पैटर्न में बदलाव के सवाल पर जानकारी आई है।
शिक्षा मंत्रालय चाहता था कि इंजीनियरिंग की तरह मेडिकल प्रवेश परीक्षा भी साल में एक से ज्यादा बार हो और इसे पेन-पेपर मोड से हटाकर कंप्यूटर मोड पर शिफ्ट किया जाए। लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ समय पर सहमति नहीं बन पाई। हालांकि जेईई मेन साल में चार बार किए जाने और करीब दूसरे अटेंप्ट में 28% स्टूडेंट्स का स्कोर बढ़ता देख (2020 रिजल्ट के आधार पर), नीट यूजी के लिए भी ऐसी डिमांड बढ़ने लगी है।
उच्च शिक्षा सचिव अमित खरे ने कहा कि ‘हमारे विचार से नीट साल में एक से ज्यादा बार होना चाहिए क्योंकि कई बार एक अटेंप्ट होने के कारण स्टूडेंट्स नर्वस होते हैं और परीक्षा में एकाग्र नहीं हो पाते। एक से ज्यादा बार परीक्षा होने पर स्टूडेंट्स का साल खराब होने से बचेगा। नहीं अगर परीक्षा की फ्रीक्वेंसी बढ़ेगी तो इसे कंप्यूटर मोड पर शिफ्ट किया जाएगा। क्योंकि पेन-पेपर पर यह संभव नहीं हो सकेगा।’
क्या इस साल बदलेगा पैटर्न?
अमित खरे ने यह संकेत तो दे दिए हैं कि नीट का पैटर्न बदला जाएगा। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि शॉर्ट नोटिस पर पैटर्न में बदलाव करना स्टूडेंट्स के साथ अन्याय होगा। स्टूडेंट्स को कम से कम 6 से 8 महीने पहले पैटर्न में बदलाव की सूचना दी जाएगी।
कब होगी नीट 2021 परीक्षा?
अमित खरे ने कहा कि नीट यूजी 2021 की तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी। यह परीक्षा जून-जुलाई 2021 में आयोजित की जा सकती है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *