भारत से बेहतर रिश्ते को लेकर सरकार और फौज की राय एक: इमरान खान

करतारपुर। सिखों के पवित्र स्थल करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर का शिलान्यास करने के मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दुश्मनी भूल दोस्ती की राह पर आगे बढ़ने की बात कही है। पाक सरकार और सेना के बीच अक्सर मतभेद की चर्चा का जिक्र करते हुए उन्होंने साफ कहा कि भारत से बेहतर रिश्ते को लेकर देश की सरकार और फौज की राय एक है। इमरान ने आगे कहा कि दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं लेकिन जब तक हम आगे नहीं बढ़ेंगे तब तक जंजीर (दुश्मनी की) को नहीं तोड़ पाएंगे। पाक पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि जर्मनी और जापान लड़ाई में करोड़ों लोगों का कत्ल कर चुके हैं लेकिन अब उन्होंने जंजीरें तोड़ दीं और अब वे इसके बारे में सोच भी नहीं सकते। आज वे आगे बढ़ सकते हैं तो भारत और पाकिस्तान क्यों नहीं?
उन्होंने आगे कहा कि फ्रांस और जर्मनी एक यूनियन बनाकर आगे बढ़ सकते हैं तो हमने एक दूसरे के लोग भले मारे हों लेकिन वैसा कत्लेआम कभी नहीं किया। उन्होंने कहा कि हम एक कदम आगे बढ़ कर दो कदम पीछे चले जाते हैं। पिछले 70 वर्षों से हम इसी तरह के मामले देखते आ रहे हैं। इमरान ने कहा, ‘हमारे में ताकत नहीं हैं कि कुछ भी होगा हम साथ रहने के बारे में सोचें और बातचीत जारी रखेंगे। मैं आज आपके सामने कह रहा हूं कि मैं पाकिस्तान का प्रधानमंत्री, सभी पार्टियां, फौज और हमारे सभी संस्थान एक साथ एक मत हैं। भारत से बेहतर रिश्ते के साथ हम आगे बढ़ना चाहते हैं।’
आतंकवाद नहीं कश्मीर की चर्चा
इमरान खान ने आतंकवाद की बात नहीं की पर कश्मीर का मुद्दा उठाना नहीं भूले। खान ने कहा, ‘हमारा मसला एक है कश्मीर का। इंसान चांद पर पहुंच गया है तो कौन सा मसला है कि इंसान हल नहीं कर सकता।’ पाक पीएम ने कहा कि सीमा के दोनों तरफ मजबूत इरादे वाली सरकारें चाहिए। इरादा और बड़ा ख्वाब होना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘सोचिए, हमारे संबंध बेहतर हो जाएं तो दोनों मुल्कों को कितना फायदा हो सकता है। मैं मजबूत संबंध चाहता हूं कि क्योंकि दुनिया में इस इलाके में सबसे ज्यादा गरीबी है। बॉर्डर खुल जाएं तो तरक्की आएगी।’
चीन का दिया उदाहरण
उन्होंने चीन का उदाहरण देते हुए कहा कि चीन ने 30 साल में 70 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला है। उनका भी पड़ोसियों से विवाद है पर उनके नेताओं ने अपने लोगों को गरीबी से निकालने का दूरदर्शी नजरिया अपनाया। पाक पीएम ने कहा कि इस इलाके में कितने बच्चे हैं जो कुपोषण का शिकार हैं। हमारे राजनेताओं को अपने गरीब तबके के बारे में सोचना चाहिए।
‘भारत एक कदम तो पाक दो कदम चलेगा’
खान ने कहा कि हमें नफरत भूलकर एक दूसरे से सीखना चाहिए। कई चीजों में भारत आगे निकल गया है और पाकिस्तान बढ़ रहा है। उन्होंने आश्वासन देते हुए कहा कि दोस्ती में हिंदुस्तान एक कदम आगे बढ़ाएगा तो मैं दो कदम बढ़ाऊंगा। पाक पीएम ने कहा, ‘आपके (सिखों) चेहरों को देखकर खुशी हुई कि जैसे एक मुसलमान मदीना जाता है वैसी खुशी दिखाई दे रही है।’
‘सिद्धू पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे’
उन्होंने करतारपुर में सभी सुविधाएं देने का वादा किया। इमरान ने आगे कहा, ‘पिछली बार जब सिद्धू वापस गए तो उनकी काफी आलोचना हुई, मुझे समझ में नहीं आया कि किस बात पर विवाद हुआ। वह तो दोस्ती की बात कर रहे थे।’ इमरान ने कहा कि सिद्धू जो मैंने दो दिनों में यहां माहौल देखा है, आप इस पार आकर चुनाव लड़ें तो यहां भी जीत जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि हमें यह इंतजार नहीं करना चाहिए कि जब सिद्धू भारत का पीएम बने तब दोस्ती होगी। खान ने कहा कि लीडरशिप इरादा कर लें तो कुछ भी मुश्किल नहीं है।
जंग की बात
इमरान खान ने अपने संबोधन के आखिर में एटमी हथियारों की भी बात की। उन्होंने कहा कि दोनों मुल्कों के पास एटमी हथियार हैं तो यह बिल्कुल साफ है कि जंग हो ही नहीं सकती है। कोई सोच भी नहीं सकता है कि जंग जीती जा सकती है। ऐसे में तो सिर्फ दोस्ती ही हो सकती है। -एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »