गोरखपुर: आक्रोशित भीड़ का थाने पर पथराव, पुलिस फायरिंग में 3 लोग घायल

गोरखपुर। सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से आवास बनवाए जाने के विरोध में मंगलवार की सुबह आक्रोशित भीड़ ने गगहा थाने पर पथराव कर दिया। पुलिस ने भीड़ को काबू में करने के लिए रबर की गोलियां चलाई। इस दौरान तीन ग्रामीण घायल हो गए। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पहुंच गए हैं। स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है।
आक्रोश
गगहा थाना क्षेत्र के अस्थौला गांव में ग्रामप्रधान द्वारा अपने एक करीबी का ग्रामसमाज की जमीन पर आवास बनवाया जा रहा है। ग्रामीण इसका विरोध कर रहे थे। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी गगहा थाने पर दी थी। थाने से कोई कार्यवाही न होने पर ग्रामीण उग्र हो गए। सुबह ही बड़ी संख्या में ग्रामीण गगहा थाने पर पहुंच गए। उग्र ग्रामीणों ने कुछ देर नारेबाजी की फिर पथराव शुरू कर दिया। परिसर में खड़ी एसओ सुनील सिंह की प्राइवेट कार और कुछ बाइक तोड़ दी।
ग्रामीणों ने थाने के सामने ही गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया। स्थिति बिगड़ती देखकर पुलिस ने रबर की गोलियां चलाईं। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने फायरिंग भी की। इससे भगदड़ मच गई। आक्रोशित भीड़ में तीन लोग घायल हो गए। घटना की जानकारी पाकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। गोला, बड़हलगंज और बांसगांव थाने की पुलिस भी बुला ली गई। पुलिस ने राजमार्ग खाली करा दिया है। स्थिति नियंत्रण में है।
फायरिंग की सूचना के बाद जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन, डीआईजी निलाब्जा चौधरी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी वारदात स्थल पर पहुंचे। थाने का निरीक्षण करने के साथ उन्होंने ग्रामीणों का भी हाल पूछा। घायलों के उपचार के लिए सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया करने का निर्देश दिया। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। फिलहाल गांव में काफी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस की रबर बुलेट से जख्मी 17 वर्षीय दीपक, 18 वर्षीय रंजीत और 65 वर्षीय जीतू को उपचार के लिए जिला अस्पताल गोरखपुर में भर्ती कराया गया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »