Smartphone से की गई प्राइवेट बातचीत भी रिकॉर्ड कर रहा है गूगल

नई दिल्‍ली। अब Smartphone के जरिये की गई प्राइवेट बातचीत भी रिकॉर्ड कर रहा है सर्च इंजन गूगल। जीहां, Smartphone के कारण गूगल को आपके बारे में पल-पल की खबर की होती है और यह खुद गूगल ने भी माना है कि बंद कमरे में की गई बातचीत को भी रिकॉर्ड कर उसकी एनालिसिस करता है।

लीक हुईं रिकॉर्डिंग्स
गूगल ने माना है कि वह आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस वॉयस असिस्टेंट गूगल असिस्टेंट के जरिये यूजर्स की बातचीत को बातचीत को रिकॉर्ड कर रहा है। पिछले दिनों गूगल असिस्टेंट की डच भाषा में कुछ रिकॉर्डिंग्स बेल्जियन के पब्लिक ब्रॉडकास्टर वीआरटी पर लीक हुई थीं। वीआरटी ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि इनमें से अधिकांश को जानबूझ कर रिकॉर्ड किया गया था, वहीं गूगल उन बातचीतों को भी सुनता है, जिनमें से कुछ में संवेदनशील जानकारियां और निजी वार्तालाप भी शामिल होते हैं।

स्मार्ट होम स्पीकर्स और सिक्योरिटी कैमरे भी कर रहे जासूसी
रिपोर्ट में दावा किया गया है कि केवल स्मार्टफोन में एक्टिव वॉयस असिस्टेंट ही नहीं बल्कि स्मार्ट होम स्पीकर्स और सिक्योरिटी कैमरों के जरिये भी आपकी रिकॉर्डिंग होती है। गूगल होम स्पीकर्स और कैमरा आपकी बातचीत को रिकॉर्ड करके क्लिप को सब-कॉन्ट्रैक्टर्स को भेज देते हैं, जो इन फाइल्स को ट्रांसक्राइब्स करके गूगल स्पीच रिकग्नाइजेश की परफॉरमेंस को इंप्रूव करने में इस्तेमाल करते हैं।

गूगल ने मानी जासूसी की बात
गूगल के सर्च के प्रोडक्ट मैनेजर डेविड मैनेसीज ने कंपनी की ब्लॉग पोस्ट के जरिये माना है कि दुनियाभर में मौजूद लैंग्वेज एक्सपर्ट्स इन रिकॉर्डिंग्स को सुन कर भाषाओं के बारे में गूगल की जानकारी बढ़ाने के लिये स्पीच टेक्नोलॉजी के विकास में मदद करते हैं। ये भाषा विशेषज्ञ इन क्लिप्स को सुनते हैं और गूगल की मदद करते हैं। स्पीच टेक्नोलॉजी पर काम करने वाले गूगल असिस्टेंट जैसे प्रोडक्ट्स को बनाने में इनका अहम योगदान होता है।

1000 से ज्यादा क्लिप्स को सुना
वीआरटी न्यूज ने दावा किया व्हिसिल ब्लोअर की मदद से गूगल असिस्टेंट के जरिये रिकॉर्ड की गई 1000 से ज्यादा क्लिप्स को सुना है, जिसमें अड्रेस समेत कई निजी जानकारियां शामिल थीं। वीआरटी के मुताबिक इन रिकॉर्डिग्स में लोग अश्लील कंटेंट खोज रहे हैं और पति-पत्नी के बीच लड़ाईयां में रिकॉर्ड हुई हैं, वहीं एक मामले में एक महिला मदद मांग रही है।

0.2 फीसदी ही ऑडियो क्लिप्स होती हैं रिकॉर्ड
गूगल ने भी माना है कि वह केवल 0.2 फीसदी ही ऑडियो क्लिप्स को रिकॉर्ड करता है और उन्हें ट्रांसक्राइब करता है। कंपनी का कहना है कि ये सभी क्लिप्स यूजर्स के अकाउंट्स से जुड़ी हुई नहीं होती हैं और इनमें कोई निजी जानकारियां नहीं होती हैं। वहीं पोस्ट में गूगल ने यह भी दावा किया है कि प्राइवेसी को मेंटेन करने के लिये बैकग्राउंड में आ रही आवाजों को वह ट्रांसक्राइब नहीं करता है।

अमेजन एलेक्सा पर लग चुका है आरोप
गौरतलब है कि अमेजन एलेक्सा पर पहले से ही बातचीत रिकॉर्ड करने का आरोप है और मैसाचुसेट्स की एक महिला ने 10 साल की लड़की की तरफ से एक केस दायर किया हुआ है, जिसमें एलेक्सा पर गैरकानूनी तरीके से लाखों बच्चों की आवाज रिकॉर्ड करने का आरोप है। कंपनी ने भी माना था कि वह स्मार्ट डिवाइसेज पर रिकॉर्ड स्टोर डाटा को हमेशा डिलिट नहीं करती है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »