आर्थिक विकास के मोर्चे पर अच्छी खबर, चीन से फिर आगे निकला भारत

नई दिल्ली। आर्थिक विकास के मोर्चे पर एक अच्छी खबर आई है। चालू वित्त वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 8.2 फीसद रही है। जीडीपी का यह बीती तिमाही से भी बेहतर प्रदर्शन है। अगले साल होने वाले आम चुनाव से पहले जीडीपी के ये नतीजे सरकार को बल देने का काम करेंगे। साथ ही ये नतीजे 3 से 5 अक्टूबर को होनी वाली अगली मॉनीटरी पॉलिसी बैठक के लिए काफी अहम होंगे।
अनुमान से बेहतर रहे नतीजे: जीडीपी के ये आंकड़े अर्थशास्त्रियों की ओर से लगाए जा रहे अनुमानों से भी बेहतर हैं जिनमें से अधिकांश ने जीडीपी के 7.4 से 7.6 फीसद तक रहने का अनुमान जताया था। केंद्रीय रिजर्व बैंक ने पहली तिमाही में जीडीपी के 7.4 फीसद रहने का अनुमान लगाया था।
कृषि और मैन्युफैक्चरिंग में हुआ इजाफा: तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में कृषि क्षेत्र की ग्रोथ 4.5 फीसद से बढ़कर 5.3 फीसद रही है। वहीं मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 9.1 फीसदी बढ़कर 13.5 फीसद हो गई। इसके अलावा तिमाही आधार पर जून तिमाही में जीवीए ग्रोथ 5.6 फीसद से बढ़कर 8 फीसद रही है।
कंस्ट्रक्शन और इलेक्ट्रिसिटी ग्रोथ में आई गिरावट: चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंस्ट्रक्शन ग्रोथ 11.5 फीसद से घटकर 8.7 फीसद रही है। वहीं इलेक्ट्रिसिटी ग्रोथ 7.7 फीसद से घटकर 7.3 फीसद, माइनिंग ग्रोथ 2.7 फीसद से घटकर 0.1 फीसद और ट्रेड ट्रांसपोर्ट ग्रोथ 6.8 फीसद से घटकर 6.7 फीसद रही है।
जीडीपी की बीती तिमाहियों का हाल: वित्त वर्ष 2017-18 की आखिरी तिमाही (जनवरी से मार्च) में जीडीपी ग्रोथ रेट 7.7 फीसद, अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 7.2 फीसद, दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में 6.3 फीसद और पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 5.7 फीसदी रही थी।
चीन से फिर आगे निकला भारत: जीडीपी के मामले में भारत एक बार फिर से चीन से आगे निकल गया है। जून तिमाही के दौरान चीन की जीडीपी ग्रोथ 6.7 फीसद रही है जबकि पिछली तिमाही में यह 6.8 फीसद रही थी। 2.6 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी वाले भारत ने साल 2017 में जीडीपी के मामले में फ्रांस को पछाड़ दिया था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »