पूछताछ शुरू होते ही गोमती रिवर फ्रंट घोटाले के आरोपियों को दिल की बीमारी

लखनऊ। यूपी में गोमती रिवर फ्रंट घोटाले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय की टीम द्वारा आरोपी इंजीनियरों से पूछताछ शुरू करते ही कोई दिल की बीमारी बताते हुए रोने लगा तो किसी के पेट में दर्द होने लगा।
जांच में सहयोग न करते देख ईडी के अधिकारियों ने पूछताछ बंद करने के साथ ही फिर से अलग-अलग तारीखों में बुलाया है।
ईडी के सूत्रों के मुताबिक रिवर फ्रंट घोटाले में सिंचाई विभाग के तत्कालीन चीफ इंजिनियर गोलेश चंद्र को शुक्रवार को पूछताछ के लिए बुलाया गया। गड़बड़ियों, ज्यादा भुगतान, बिना बजट पास हुए भुगतान व टेंडर के बारे में पूछा गया। इस दौरान पहले गोलमोल जवाब देते रहे।
इससे पहले पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर अधीक्षण अभियंता अखिल रमन सीना पकड़कर बैठ गए। कारण पूछने पर दिल की बीमारी होने पर रोने लगे।
इतना ही नहीं, अधीक्षण अभियंता शिवमंगल यादव पूछताछ के दौरान पेट खराब होने की बात कहकर टॉइलट के चक्कर लगाते रहे। ऐसे में दोनों से पूछताछ नहीं हो सकी। ईडी ने दोनों को पूछताछ के लिए फिर से नोटिस जारी कर बुलाया है। अखिल रमन से सात मई और शिव मंगल यादव से आठ मई से पूछताछ होगी।
अनुबंध को लेकर होनी है पूछताछ
तत्कालीन चीफ इंजीनियर गोलेश चंद्र और अधीक्षण अभियंता शिव मंगल सिंह से ईडी को गैमन इंडिया के साथ हुए अनुबंध को लेकर पूछताछ करनी है।
रिवर फ्रंट का काम शुरू होने के दौरान सिंचाई विभाग के दोनों अफसर ही अहम भूमिका में थे। गैमन इंडिया के साथ हुए 600 करोड़ के अनुबंध में पार्टी शिवमंगल सिंह थे और चीफ इंजीनियर गोलेश चंद्र ने मंजूरी दी थी। गोलेश चंद्र से 15 मई को पूछताछ की जाएगी।
नहीं आए रूप सिंह यादव
घोटाले की जांच की अहम कड़ी माने जा रहे तत्कालीन अधीक्षण अभियंता रूप सिंह यादव को भी ईडी ने समन भेजा था। ईडी की तरफ से भेजा गया समन वापस आ गया और रूप सिंह पेश नहीं हुए। ऐसे में सभी सम्भावित स्थानों पर फिर से नोटिस भेजकर नौ मई को तलब किया गया है।
अब तक नहीं आई आईआईटी की रिपोर्ट
गोमती रिवर फ्रंट घोटाले की जांच टेक्निकल ऑडिट कमेटी की रिपोर्ट के इंतजार में आगे नहीं बढ़ पा रही है। अब तक सिंचाई विभाग ने सीबीआई और ईडी को रिपोर्ट नहीं सौंपी है जबकि दोनों जांच एजेंसियों की तरफ से कई बार पत्राचार किया गया है। बताया जा रहा है कि रिपोर्ट आने में करीब एक माह का समय लग सकता है।
इन आरोपितों से भी होगी पूछताछ
गोलेश चंद्र, अखिल रमन, शिव मंगल सिंह यादव व रूप सिंह यादव के अलावा ईडी जल्द ही सिंचाई विभाग के रिटायर्ड एसएन शर्मा, काजिम अली, कमलेश्वर सिंह और अधिशासी अभियंता सुरेश यादव से भी पूछताछ करेगी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »