Shubhankar बने एशियाई टूर ऑर्डर ऑफ मेरिट जीतने वाले सबसे युवा भारतीय

नई दिल्‍ली। भारत के गोल्फर  Shubhankar Sharma ने शानदार सीजन के बाद 2018 एशियाई टूर ऑफ मेरिट खिताब पर कब्जा कर लिया। वे ऐसा करने वाले पांचवें और सबसे युवा भारतीय बने। इससे पहले सबसे कम उम्र में अनिर्बान ने 2015 में इसे जीता था।

Shubhankar Sharma से पहले ज्योति रंधावा (2002), अर्जुन अटवाल (2003, जीव मिल्खा सिंह (2006 और 2008) और अनिर्बान लाहिड़ी (2015) ने यह खिताब जीत चुके हैं।

Shubhankar Sharma से पहले ज्योति रंधावा (2002), अर्जुन अटवाल (2003), जीव मिल्खा सिंह (2006 और 2008) और अनिर्बान लाहिड़ी (2015) ‘एशियाई टूर ऑर्डर ऑफ मैरिट’ जीत चुके हैं।

हॉन्गकॉन्ग ओपन में संयुक्त छठे स्थान पर रहे शर्मा ने क्वींस कप, मॉरीशस ओपन और दक्षिण अफ्रीका ओपन नहीं खेला था। उन्हें दक्षिण अफ्रीका के जस्टिन हार्डिंग से चुनौती मिल रही थी, लेकिन इस सप्ताह हार्डिंग कट में प्रवेश से चूक गए और उनके आगे निकलने की संभावना भी खत्म हो गई।

Shubhankar ने 2016 सीजन में ऑर्डर ऑफ मेरिट में 55वां स्थान हासिल किया था और फिर 2017 में अपना कार्ड रिटेन किया था। अपनी इस सफलता पर शुभंकर ने कहा, “मेरे साथ जो कुछ हुआ है, उसे लेकर मैं बहुत खुश हूं। एशियाई टूर ने मेरे करियर में अहम किरदार निभाया है और मुझे दुनिया भर में खेलने का मौका दिया है। यह साल मेरे लिए सीखने के लिहाज से काफी अहम रहा है। मैं आगे भी अपना श्रेष्ठ खेल दिखाता रहूंगा।

उन्होंने कहा, ”’एशियाई टूर ऑर्डर ऑफ मैरिट’ काफी खास है। ज्योति रंधावा, अर्जुन अटवाल, जीव मिल्खा सिंह और अनिर्बान लाहिड़ी जैसे धुरंधरों ने इसे जीता है जिन्हें देखकर मैं खेल सीखा हूं।”

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »