IAS अफसर की गोल्‍फर बेटी गाय पालकर कर रही है ऑरगेनिक फार्मिंग

लखनऊ। यूपी के लखनऊ की रहने वाली वैष्णवी 5 साल से ज्यादा समय अमेरिका के शिकागो में रही। वैष्णवी सिन्हा ने प्रोफेशनल तौर पर गोल्फ खेला लेकिन इंडिया लौटकर वो गाय पाल रही हैं और जैविक खेती करके खेती के प्रति कम हो रही रुचि को बढ़ावा दे रही हैं।
वैष्णवी का जन्म 6 दिसंबर 1990 को लखनऊ में हुआ। उनके पिता आलोक सिन्हा IAS ऑफिसर हैं और मां प्रीति हाउस वाइफ। वैष्णवी 2 बहनें हैं। छोटी बहन शाम्भवी का खुद का स्टार्टअप है।
वैष्णवी बताती हैं कि वो शुरू से पढ़ने में काफी अच्छी थीं। डीपीएस नोएडा से 2008 में 12वीं पास किया। फिर आगे की पढ़ाई के लिए शिकागो के परड्यू यूनिवर्सिटी चली गईं। 5 साल तक वहां पढ़ाई की, साथ में गोल्फ की प्रैक्टिस भी करती रहीं।
ग्रेजुएशन करने के बाद उन्‍होंने अमेरिका में ही 2 साल तक प्रोफेशनली गोल्फ खेला। 2015 में वैष्णवी शिकागो से इंड‍िया वापस आ गईं।
एक दिन परिवार के साथ खाना खाते वक्त उनके पापा ने लीक से हटकर काम करने की सलाह दी।
वैष्णवी के पिता आलोक सिन्हा ने  Legend News को बताया कि उनकी बेटी वैष्‍णवी ने गढ़ क्षेत्र में स्थित एक मित्र के परिवार की लगभग 37 एकड़ कृषि भूमि पर ऑर्गेनिक फार्मिंग का काम करना शुरू किया। चूंकि उनके पिता को देशी गाय बहुत पंसद थी। उन्होंने गाय खरीदकर बिजनेस करने को कहा। जिसके बाद 2017 में 10 गायें खरीदीं।
अभी उनके पास पास 21 गायें हैं जो हर रोज 50 से 60 लीटर दूध देती हैं। इस बीच वैष्णवी ने जीरो बजट ऑरगेनिक फार्मिंग के बारे में सुना और उस पर काम करना शुरू किया। आज गाय के गोबर से खाद बनाकर उसी से जीरो बजट प्राकृतिक खेती करती हैं।
वैष्णवी ने 2018 में 120 गायें पालने का लक्ष्य रखा है। साथ ही 1.4 करोड़ रुपए टर्न ओवर का भी टारगेट फिक्स किया है।

-Legend News