गाजियाबाद केस: पुलिस ने जारी किया आरोपी सद्दाम का वीडियो

गाजियाबाद। गाजियाबाद में एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई करने और जबरन उनकी दाढ़ी काटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। यूपी पुलिस ने इस मामले में अब ट्विटर सहित 9 लोगों के खिलाफ सोशल मीडिया पर भ्रामक खबरें फैलाने और धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में केस दर्ज किया है। इस मामले में आरोपी सद्दाम का पुलिस ने एक वीडियो जारी किया है।
सद्दाम ने घटना के दिन के बारे में बताया कि उसकी पत्नी का दूध नहीं उतर रहा था और बच्चा दूध नहीं पी रहा था। उसने सूफी (पीड़ित) को कॉल किया।
‘सद्दाम ने सूफी से की थी बात’
सद्दाम ने बताया कि ‘सूफी ने कहा कि तीन अंडे, तीन लड्डू, एक सिगरेट और एक अगरबत्ती का पैकेट लाकर बच्चे के ऊपर से उतारकर कुत्ते को डाल देना। उसने कहा कि अभी उसकी तबीयत खराब है इसलिए बाद में आएगा।’
इंतजार के घर पहुंचा था पीड़ित बुजुर्ग
आरोपी ने कहा, ‘5 जून को सूफी आए। वह इंतजार के घर पर थे। इंतजार ने मुझसे कहा कि सूफी को लेकर परवेज के यहां चले जाओ। परवेज आ गया। सूफी को लेकर पहुंच गया। परवेज ने आदिल को फोन किया। आदिल के साथ तीन चार लड़के आए। उसके बाद घटना हुई।’
पुलिस ने पीड़ित बुजुर्ग का भी एक वीडियो जारी किया है। यह वीडियो घटना के पहले का बताया जा रहा है। इस वीडियो में वह कह रहा है कि ‘इंतजार ने कह कर भेजा कि इन्हें ताबीज़ देकर मेरे वश में कर दो। इनसे मेरा काम है।’
जानिए क्या है पूरा मामला
बीते सोमवार को गाजियाबाद से एक बुजुर्ग शख्स का वीडियो वायरल हुआ। वीडियो में दिख रहा है कि बुजुर्ग शख्स मारने वालों के आगे हाथ जोड़ रहा है लेकिन वो उसकी नहीं सुन रहे। आरोपी, बुजुर्ग की पिटाई करते जा रहे हैं। घटना का वीडियो वायरल हुआ तो मंगलवार को पीड़ित का एक और वीडियो ट्विटर पर ट्रेंड कर गया। इसमें आरोप लगाया गया है कि आरोपियों ने पीड़ित से धर्म विशेष के नारे लगवाए। इसे माहौल बिगाड़ने की साजिश मानते हुए पुलिस ने वीडियो वायरल करने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।
जांच में सामने आई ये बात
गाजियाबाद पुलिस ने जांच करने पर पाया कि पीड़ित अब्दुल समद से 5 जून को परवेज नाम के एक शख्स के घर में मारपीट में हुई थी। इसमें परवेज के साथ कल्लू, पोली, आरिफ, आदिल और मुशाहिद नाम के शख्स भी शामिल थे। पुलिस के मुताबिक अब्दुल समद तावीज बनाने का काम करता है, उसके दिए गए तावीज से परवेज और बाकी लड़कों के परिवार पर उल्टा असर हुआ। इस वजह से उन्होंने यह कृत्य किया।
पुलिस के मुताबिक अब्दुल समद और परवेज, आदिल, कल्लू वगैरह लड़के एक दूसरे को पहले से ही जानते थे क्योंकि अब्दुल समद के ज़रिए गांव में कई लोगों को तावीज दिए गए थे। इस मामले में मुख्य अभियुक्त परवेज गुज्जर की गिरफ्तारी पहले ही की जा चुकी है। 14 जून को अन्य दो अभियुक्तों कल्लू व आदिल की गिरफ्तारी की गई।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *